काश! ''मोदी की मन की बात में होता कश्मीर का जिक्र''

श्रीनगर (31 जुलाई): नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम मन की बात पर अफसोस जताते हुए कहा कि पीएम ने जम्मू-कश्मीर के हालात का जिक्र तक नहीं किया।

उमर ने ट्वीटर पर लिखा, 'काश! प्रधानमंत्री को मेरे राज्य के लिए आश्वस्त करने वाले गिने-चुने शब्द ही मिल जाते। राज्य में अब तक लगभग 50 लोगों की मौत हो गई है जबकि अनगिनत घायल हैं।' इस स्थिति की जिम्मेदारी नहीं लेने के लिए उमर ने मुख्यमंत्री महबूबा पर भी हमला बोला। पूर्व मुख्यमंत्री उमर ने कहा, 'उनके किस्म के नेतृत्व के साथ परेशानी यह है कि उनकी गलती तो कभी होती ही नहीं है, दोषारोपण हमेशा दूसरों पर होता है।'

निजी समाचार चैनल पर साक्षात्कार में महबूबा ने कहा था, 'ऐसी कई ताकतें साथ आ गई हैं जो माहौल को बिगाड़ना चाहती हैं। वे विभिन्न इलाकों में बच्चों को भेजकर परेशानी खड़ी करना चाहते हैं।' एक परीक्षा केंद्र पर मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन हुए थे। इस पर उमर ने कहा, 'मुझे समझ नहीं आ रहा कि मुख्यमंत्री परीक्षा केंद्र पर क्या करने गई थीं?'