"POK खाली कराने से पहले घर की आग बुझाएं मोदी"

नई दिल्ली (20 अगस्त): घाटी में काफी दिनों से फैली हिंसा को लेकर प्रदेश में सभी विपक्षी दल के नेताओं ने दिल्ली में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से मुलाकात की। इस दल की अगुवाई कर रहे नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला ने मीडिया से बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा।

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि मोदी सरकार को पीओके की मांग करने और उसे खाली कराने से पहले अपने घर में लगी आग को बुझाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कश्मीर की जो स्थिति है वह राजनीतिक कारणों से है। वहां पर स्थिति को सामान्य लाने के लिए राजनीतिक हल ढूंढना होगा। फोर्स के इस्तेमाल से कुछ हल निकलने वाला नहीं है। मैं यहां विदेश नीति पर विचार रखने नहीं आया हूं। पहले मेरे घर में जो आग लगी है वो बुझाएं।

उमर अब्दुल्ला ने कहा, "ये आग जम्मू-कश्मीर के पहाड़ी इलाकों में भी पहुंच रही है। अगर इसे जल्द ही नहीं सुधारा गया तो बहुत परेशानी होगी। हमने राष्ट्रपति से गवर्नर रूल की बात नहीं की है। हम यहां हुकूमत बदलने नहीं आये हैं। बावजूद इसके कि महबूबा मुफ्ती पूरी तरह फेल हो चुकी हैं।"

पाकिस्तान की संलिप्तता को लेकर पूछे गए सवाल पर एनसी नेता ने कहा कि पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में हालात खराब करने की कोशिश करता रहा है, लेकिन बुरहान वानी की मौत के बाद जो हालात खराब हुए हैं, वो हमारी विफलता है। हां, पाकिस्तान ने आग में पेट्रोल डालने का काम किया। लेकिन हमें ये मानना होगा कि हमसे गलती हुई है। अफसोस मुझे इस बात है कि जो बात हम राजनीतिक नेतृत्व से सुनना चाहते हैं वो आज हमें सेना से सुनने को मिल रही है।