ओमान में भारतीय समुदाय को PM मोदी ने किया संबोधित, कहा- भारत की तरक्की का दुनिया कर रही है सम्मान

मस्टक (12 फरवरी): तीन देशों की यात्रा पर निकले पीएम मोदी आखिरी पड़ाव पर रविवार को ओमान में पहुंचे। यहां पहुंचने पर ओमान की मिनिस्टर काउंसिल के उपप्रधानमंत्री सैयद फहद बिन महमूद अल सैद ने प्रधानमंत्री मोदी का जोरदार जबरदस्त स्वागत किया। इसके बाद मस्कट के सुल्तान कबूस स्पोर्ट कॉम्प्लेक्स में पीएम मोदी ने तकरीबन 25 हजार भारतीय समुदाय को लोगों को संबोधित किया। 

सुल्तान कबूस स्पोर्ट कॉम्प्लेक्स पहुंचने ने वहां मौजूद लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी का जोरदार स्वागत किया। प्रधानमंत्री का संबोधन शुरू होते ही पूरा माहौल वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारों से गूंज उठा। उन्होंने कहा आज दुनिया भारत को सम्मान दे रही है। ये सम्मान उनका नहीं भारत की तरक्की और भारतीयों का सम्मान है। साथ ही उन्होंने कहा कि ओमान के विकास में भारत के राष्ट्रदूत यानी भारतवंशियों की भागीदारी रही है। उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से एक राजदूत होता है, लेकिन देश की तरफ से लाखों राष्ट्र दूत यहां बैठे हैं। हम एक नीति बनाकर खाड़ी देशों के साथ दोस्ती के रिश्तों को एक नए मुकाम पर ले जा रहे हैं। भारत की बढ़ती हुई प्रगति और साख के साथ-साथ खाड़ी देशों की भारत में रूचि लगातार बढ़ रही है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जैसे दूध में शक्कर घुल कर उसे मीठा कर देती है, ये गुण हम भारतीयों में भी हैं। ये हमारे संस्कार में है कि पूरी दुनिया को हम अपना परिवार मानते हैं और समय के अनुसार खुद को ढाल कर सभी की परंपराओं का आदर करते हैं। यही वजह है कि दुनिया का नक्शा भले ही बदल गया हो, बड़े-बड़े देश ध्वस्त हो गए हों, लेकिन भारत आज भी तेज गति के साथ आगे बढ़ रहा है।

लगे हाथों प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी सरकार की जमकर तारीफ की और पुरानी यानी यूपीए की सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मिनिमम गवर्नमेंट मैक्सिमम गवर्नेंस की दिशा में काम कर रहे हैं। अनावश्यक कानूनों के खत्म करना, काम के बोझ को कम करना, लोगों की शिकायत को गंभीरता से सुना जाना और उन पर कार्रवाई करना जैसी बातों को सरकार के कल्चर में शामिल किया है। उन्होंने कहा कि वही अधिकारी है, वही बाबू है और वही दफ्तर है, लेकिन नतीजे बदले हुए आ रहे हैं। 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस बार के बजट से दुनिया का ध्यान आकर्षित किया है। बजट में आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से 10 करोड़ गरीब परीवारों यानी 40-50 करोड़ नागरिकों के लिए आयुष्मान भारत योजना शुरू की है। हिंदुस्तान के अखबारों में उसे नया नाम दिया, इस योजना को मोदीकेयर के रूप में पेश किया गया। हमारे विरोध करने वाले भी इस योजना का विरोध नहीं कर रहे हैं, अब वे कहते हैं कि योजना तो अच्छी है, लेकिन करोगो कैसे। उन्होंने कहा कि भारत एक ऐसा देश है जो एकबार ठान ले उसे करके ही दम लेता है।

पीएम मोदी ने इंश्योरेंस स्कीम का जिक्र करते हुए कहा कि 90 पैसे और एक रुपये में गरीबों का बीमा कराया गया है। मोदी ने कहा कि मैं चायवाला हूं, जानता हूं कि 90 पैसे में तो चाय भी नहीं आती। पीएम ने इस बार बजट में पेश हेल्थ बीमा योजना का जिक्र करते हुए कहा कि मीडिया ने इसे मोदी केयर का नाम दिया है। पीएम ने कहा कि 4 साल होने को आए और कोई नहीं पूछता कि मोदी कितना ले गया।