#News24Conclave: 'अगर प्रियंका कांग्रेस नेतृत्व में आती हैं, तो BJP को ज्यादा मेहनत करनी होगी' : रामदेव

नई दिल्ली (21 मई): राजधानी दिल्ली में शनिवार को आयोजित हुई #News24Conclave के अंतिम सत्र में आए योग गुरु रामदेव से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो साल के कार्यकाल को लेकर सवाल किए गए। जिन्हें वह बड़े ही चतुर अंदाज में टाल गए। 

रामदेव से जब न्यूज24 ने सवाल किया कि नरेंद्र मोदी सरकार के कामकाज को कैसे देखते हैं। इसके जवाब में बड़ी ही चतुराई और हंसी के साथ रामदेव ने कहा, "सब लोग ये पूछ रहे हैं नरेंद्र मोदी ने क्या किया? अरे ये देखो कि खुद तुमने क्या किया?"

आने वाले योग दिवस के मौके पर 'ऊं' उच्चारण को लेकर चल रहे विवाद पर रामदेव ने कहा, "राजपथ पर योग हुआ था तब भी ऊं बोला गया। आगे भी होगा तो भी ऊं बोला जाएगा।"

उनसे काले धन वापस लाने और लाखों रुपए लोगों के खातों में वापस करने के मुद्दे पर भी सवाल किया गया। इस मुद्दे को भुला देने के आरोप पर सफाई देते हुए रामदेव ने कहा, "अकाउंट में मुफ्त में पैसे आने वाली बात सोचना और आना नैतिक रूप से सही नहीं है। काला धन का पैसा अकाउंट में आना कानूनी रूप से सही नहीं है।"

कांग्रेस से संबंधों के सवाल पर उन्होंने कहा, "हमारी व्यक्तिगत तौर पर सोनिया गांधी- राहुल गांधी से कोई दुश्मनी नहीं है। लेकिन, सोनिया गांधी ने जो मेरे साथ जो किया है, उसे इस जन्म में नहीं भुला सकता।" कांग्रेस नेतृत्व में बदलाव में प्रियंका गांधी की भूमिका के सवाल पर उन्होंने कहा, "अगर प्रियंका गांधी कांग्रेस नेतृत्व में आती हैं, तो भाजपा वालों को ज्यादा मेहनत करनी होगी।" उन्होंने कहा, कांग्रेस में किसको नेतृत्व करना है, ये उसे ही तय करना है।

कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी खन्ना ने जब रामदेव से 'भोग-योग' से जुड़ा सवाल किया। जिसपर रामदेव ने कहा, "सन्यासी होने की परिभाषा बीजेपी या कांग्रेस के कार्यालय से तय नहीं होगी।"  

बीते दिनों ओवैसी के भारत माता की जय के नारे से संबंधित बयान की प्रतिक्रिया में आए उनके विवादित बयान पर उन्होंने सफाई देते हुए कहा,  "गला काटने वाली बात नहीं की, पूरी बात नहीं समझी गई" 

अर्थव्यवस्था से जुड़े सवाल पर रामदेव ने साफ कहा कि वह प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के रत्ती भर भी समर्थक नहीं हैं।