ओमपुरी की मौत के बाद उनके फ्लैट पर वकील के साथ पहुंची थीं नंदिता, बाहर इंतजार कराने पर नाराज हुए थे अनुपम खेर

नई दिल्ली ( 10 जनवरी ): ओम पुरी की मौत से जुड़े आए दिन खुलासे हो रहे हैं। उनके मौत से जुड़ा अब एक नया खुलासा हुआ है। मुंबई पुलिस के मुताबिक पुरी की मौत के बाद हुए घटनाक्रम के बारे में बताया है। ओम पुरी की मौत की खबर मिलने के बाद जब उनकी दूसरी पत्नी नंदिता उनके फ्लैट पर पहुंचीं तो उन्होंने वहां मौजूद लोगों को घर से बाहर कर दिया। यही नहीं, अनुपम खेर भी जब वहां पहुंचे तो उन्हें भी बाकी लोगों के साथ 20 मिनट तक बाहर ही खड़ा रखा और इंतजार कराया। इस बात से अनुपम नाराज हो गए और वहां से निकल गए। उस वक्त वहां मौजूद लोगों ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि नंदिता ओम पुरी के फ्लैट पर वकील लेकर भी पहुंची थीं।


-बता दें कि ओम पुरी शुक्रवार सुबह अपने फ्लैट पर मृत मिले थे। वे 66 साल के थे। शुरुआती पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया कि ओमपुरी के सिर में डेढ़ इंच गहरा और 4 सेंटीमीटर लंबा जख्म का निशान था।


-इसी के बाद से मुंबई पुलिस सिलसिलेवार पूछताछ कर रही है। अब तक ओम पुरी के ड्राइवर राम प्रमोद मिश्रा और उनके साथ आखिरी दिन रहे प्रोड्यूसर खालिद किदवई से पूछताछ हो चुकी है।


- ओम पुरी के निधन के बाद उनके फ्लैट पर पहुंचे लोगों का कहना है कि नंदिता शुक्रवार सुबह 8 बजकर 56 मिनट के आस पास ओकलैंड पार्क स्थित पुरी के फ्लैट पर पहुंची थी। उस वक्त वहां बिल्डिंग के कुछ लोगों के अलावा ओम पुरी का ड्राइवर राम प्रमोद मिश्रा मौजूद था।


-नंदिता ने ओम पुरी के फ्लैट पर पहुंचते ही पहले सबसे पहले उनके शव को देखा। फिर वे सीधे उनके कमरे में चली गईं।


-उस वक्त कमरे में उनके साथ उनके वकील भी थे। कमरे से बाहर आते ही वहां मौजूद लोगों को बाहर निकाल दिया गया।


-लोगों का कहना है कि तब तक वहां अनुपम खेर भी पहुंच चुके थे, जब उन्हें ये बताया गया कि नंदिता ने सभी को बाहर रुकने को कहा है तो वे काफी नाराज भी हुए।


-बाद में वहां 2 डॉक्टरों की टीम के साथ पुलिस भी पहुंच चुकी थी।


-यह भी बताया जा रहा है कि जब शव को पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाया जा रहा था, तब नंदिता ने ओम पुरी का पर्सनल बैग अपने साथ लिया और उसे गाड़ी में रख लिया।


- कई घंटों तक पुलिस उनका मोबाइल तलाशती रही लेकिन उसका पता नहीं चल पाया।