डोपिंग से बचने के लिए दो दिन भूखा रहा था यह भारतीय ओलंपिक विजेता

नई दिल्ली (28 जुलाई): नरसिंह यादव डोपिंग मामले की गूंज कुश्ती महासंघ से लेकर संसद तक सुनाई दी। आज भी इस मसले पर हंगामे के आसार हैं। लेकिन डोपिंग का मामला नया नहीं है। यह हमेशा से खिलाड़ियों के लिए सिर दर्द का कारण बनता आया है। इससे बचने के लिए भारतीय पहलवानों ने ओलंपिक के दौरान या तो भूखे रहकर अपने को बचाया या फिर घर का खाना खाकर।

हम बात कर रहे हैं भारत को दो ओलंपिक पदक दिलाने वाले पहलवान सुशील कुमार की। सुशील घर के खाने के शौकीन हैं। यही कारण है कि कैंप के दौरान सुशील का खाना घर से ही आता है। लेकिन लंदन और बीजिंग ओलंपिक के दौरान सुशील को सबसे बड़ी दिक्कत खाने को लेकर ही हुई थी। शाकाहारी और मनपसंद खाना नहीं मिलने पर उन्होंने एक बार दो दिन तक सूखे मेवे और बादाम खाकर काम चलाया था, जो उनके कोच घर से लेकर गए थे।