ओली ने मधेसियों को वार्ता का लिखित निमंत्रण भेजा

नई दिल्ली (26 मई): नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के लिखित प्रस्ताव पर संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा गंभीरता से विचार कर रहा है। मधेसी और जनजातीय समस्याओं के हल के लिए प्रधानमंत्री ओली ने वार्ता का लिखित प्रस्ताव रखा है। मोर्चा के नेता राजेन्द्र महतो ने सरकार के प्रस्ताव पर कहा है कि वो मोर्चा के सभी घटक दलों से विचार विमर्श कर आगे की रणनीति पर फैसला करेंगे।

उन्होंने कहा वार्ता कब होगी यह फैसला भी सभी से विचार करके लिया जा सकता है। मोर्चा के नेता अपने-अपने कार्यों में व्यस्त हैं। उधर संघीय गठबंधन ने कहा है कि सरकार से वार्ता के लिए उन्होंने कभी इंकार नहीं किया है। वो तो खुद ये चाहते हैं कि लिखित आश्वासन मिले तो वार्ता का लाभ भी है। उन्होंने कहा कि मधेश और जनजातीय समस्याओँ पर विचार विमर्श में फेडरल एलायंस के प्रतिनिधियों का शामिल होना अनिवार्य है।