दुनिया की सबसे पुरानी गणेश कलाकृति!

नई दिल्ली (30 अगस्त): भगवान गणेश का 10 दिनों तक चलने वाला गणेश उत्सव बस कुछ ही दिनों में आने वाला है। उसके पहले एक डॉक्टर ने दुनिया की सबसे पुरानी गणेश भगवान् की कलाकृति प्राप्त करने का दावा किया है। अबसे पहले गणेश की सबसे पुरानी मूर्ती या कलाकृति चाइना में 6वीं सेंचुरी में मिलने के प्रमाण मिले है। मगर इस कलाकृति के 1-2 सेंचुरी के आसपास की होने का दावा किया जा रहा है।   - सिक्के की तरह इसमें भगवान् गणेश की प्रतिमा साफ़ तौर पर देखी जा सकती है।  - 2 हाथों और सूंड वाले भगवान गणेश बगल में लड्डू रखने का पात्र और सिर के आसपास चक्र जैसा आभामंडल।  - वहीं उसके दूसरी तरफ नंदी जैसा पशु और कुछ लिखा हुआ दिखाई दे रहा है।  - कहा जा रहा है कि भगवान् गणेश की ये अब तक की सबसे पुरानी तकरीबन 2000 साल पुरानी कलाकृति है। - ये दावा किया है देश के मशहूर सेक्सयोलॉजिस्ट और पद्मश्री डॉक्टर प्रकाश कोठारी ने। - इनका कहना है कि अब तक भगवान् गणेश की सबसे पुरानी कोई भी मूर्ती या कलाकृति लगभग 551 सन में चाइना में मिली थी। - इसका कई इतिहासकारों ने जिक्र भी किया है बाकी भारत में सभी 6वी सेंचुरी के बाद मिली हैं।  - मगर इनके पास मौजूद ये कलाकृति उससे भी पुरानी करीब 1-2 या 3 सेंचुरी के आसपास की है जिसका भारत के पुरातत्व विभाग के अलावा कई चर्चित इतिहासकारों ने भी प्रमाण दे दिया है।  - डॉक्टर का ये भी कहना है अभी गणेश के 4 हाथ होते हैं जबकि ये 2 हाथो वाली है। - वहीँ पुराने इतिहासकार कहते थे की उस वक्त गणेश रूकावट पैदा करने वाले थे बाद भी लोगों के दुःख दूर करने लगे। - मगर डॉक्टर ऐसा नहीं मानते उनका कहना है ये कलाकृति बताती है की उनके सिर पर आभामंडल है यानि वो हमेशा से भगवान् ही रहे है। वो कभी रूकावट नहीं पैदा कर सकते।