'UAE के तेल क्षेत्रों में हिस्सेदारी खरीदने की तैयारी में सरकारी पेट्रोलियम कंपनियां'

नई दिल्ली(22 सितंबर): सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियां संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में अबू धाबी नेशनल ऑयल कंपनी (एडनॉक) के तेल क्षेत्र में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने पर विचार कर रही हैं।

-  ऑयल इंडिया लि.के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक उत्पल बोरा ने गुरुवार को यह जानकारी दी। 

- बोरा ने कहा, ‘‘यूएई की एडनॉक से एक पेशकश आई है। वह अपने क्षेत्र में कुछ हिस्सेदारी की पेशकश कर रही है। इस क्षेत्र से उत्पादन हो रहा है। अब हम यह पड़ताल कर रहे हैं कि वहां निवेश करना फायदे का सौदा होगा या नहीं।’’

- बोरा ने कहा, ‘‘वह 20 प्रतिशत हिस्सेदारी की पेशकश कर रही है। हम हिस्सेदारी लेने वाली कंपनियों में से होंगे। 20 प्रतिशत हिस्सेदारी का अधिग्रहण तीन या चार पेट्रोलियम कंपनियां करेंगी। हम उस गठजोड़ का हिस्सा हैं। गठजोड़ में भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन (बीपीसीएल), ओएनजीसी विदेश लि. (ओवीएल) ऑयल इंडिया तथा अन्य शामिल हैं।

- ऑयल इंडिया के परिदृश्य के बारे में पूछे जाने पर बोरा ने कहा कि कंपनी की चालू वित्त वर्ष में 4,000 करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना है। उन्होंने कहा कि यह निवेश विकास के लिए खुदाई और खोज के लिए खुदाई कार्यक्रमों तथा ढांचे के सृजन के लिए किया जाएगा।

- उन्होंने कहा कि कंपनियां जिन तेल एवं गैस ब्लॉकों का परिचालन कर रही है उनमें से ज्यादातर पुराने हैं। उत्पादन के बारे में बोरा ने कहा कि इस साल आयल इंडिया का तेल उत्पादन 33.5 लाख टन रहने की उम्मीद है जो पिछले साल 32.8 लाख टन रहा था।

- गैर व्यावहारिक तेल ब्लाकों को छोड़ने के बारे में उन्होंने कहा कि पहले ही पांच ब्लॉक सरेंडर किए जा चुके हैं। पिछले साल सीमान्त तेल क्षेत्रों की नीलामी में इन ब्लॉकों को रखा गया था।