जेल में महिला कैदियों को भड़काने के आरोप में इंद्राणी के खिलाफ केस दर्ज

नई दिल्ली (26 जून): मुंबई के भायखुला जेल में 35 साल की एक कैदी की कथित हत्या के खिलाफ महिला कैदियों के बवाल के एक दिन बाद जेल में बंद इंद्राणी मुखर्जी के खिलाफ पुलिस ने कैदियों को हिंसा के लिए भड़काने का केस दर्ज किया है।

शुरुआती जांच में पता चला कि इंद्राणी ने महिला कैदियों को हिंसक प्रदर्शन के लिए उकसाया और बच्चों को मानव ढाल के तौर पर इस्तेमाल करने को कहा। इसके बाद उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया। बता दें कि भायखुला जेल में महिला कैदियों को अपने 6 साल के बच्चों के अपने साथ रखने की इजाजत है।

साथी कैदी मंजुला शेटे की मौत के विरोध में महिला कैदियों ने हंगामा काटा था, जिसमें जेल के कई कर्मचारी घायल हुए थे। करीब 200 सजायाफ्ता और विचाराधीन कैदियों के खिलाफ गार्ड्स के साथ मारपीट करने और जेल की छत पर चढ़नकर हिंसकर प्रदर्शन करने के लिए केस दर्ज किया गया है। शेटे को कथित तौर पर जेल के एक अधिकारी ने पीटा था।

हालांकि जेल के अधिकारियों के मुताबिक उसकी मौत हार्ट अटैक से हुई है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि उसके सिर पर कई जख्म थे और उसे अंदरूनी चोट भी लगी थी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद भायखुला जेल की सुपरिटेंडेंट मनीषा पोखरकर और 5 गार्ड्स के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है।