ड्राइवर के साथ रंगरलियां मना रही थी पत्नी, पति ने देखा और फिर...

जमशेदपुर (15 मई): कहते हैं शादी का रिश्ता पति और पत्नी दोनों की विश्वास की एक पतली डोर में बंधा होता है। दोनों की ही जिम्मेदारी होती है कि वह इस डोर को कभी टूटना ना दें, लेकिन जमशेदपुर के भवन निर्माण विभाग के अकाउंट अफसर रत्नेश कुमार की पत्नी ने ऐसा काम किया, जिसने पति को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया।


दरअसल, जमशेदपुर के भवन निर्माण विभाग के अकाउंट अफसर रत्नेश कुमार ने 10 मई को आदित्यपुर की भाटिया बस्ती स्थित ऋषि अपार्टमेंट के तीसरे फ्लोर पर किराए के फ्लैट में गृह प्रवेश किया। घर में उल्लास का माहौल था।


- उनके ससुर वेदप्रकाश राय बिहार के हाजीपुर जिले में बाग दुल्हन पासवान चौक के रहने वाले हैं।

- वे भी गृह प्रवेश समारोह में शामिल होने आए थे।

- उनके साथ ही हाजीपुर निवासी ड्राइवर राकेश कुमार गाड़ी चलाकर आया था।

- दिन में प्रोग्राम खत्म होने पर रात में सब लोग सोने चले गए।

- इसी बीच करीब 11.30 बजे राकेश को रत्नेश ने पत्नी के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया।

- इसके बाद वह आपे से बाहर हो गए और सब्जी काटने वाला चाकू राकेश के सीने में घोंप दिया।

- रत्नेश के ससुर वेदप्रकाश राय घायल ड्राइवर को बिष्टुपुर स्थित कांतिलाल अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल प्रबंधन ने आदित्यपुर पुलिस को सूचना दी।

- पुलिस अस्पताल पहुंची। पुलिस पूछताछ में रत्नेश ने चालक की मौत को दुर्घटना बताया, लेकिन चिकित्सकों ने चाकू से वार किए जाने की जानकारी दी तो पुलिस ने रत्नेश को हिरासत में ले लिया।

- कड़ाई से पूछताछ हुई तो उन्होंने हत्या करने की बात कबूल कर ली।

- आदित्यपुर पुलिस शनिवार की सुबह 6.30 बजे घटनास्थल पर पहुंची।

- वहां रत्नेश के घर की तलाशी ली गई, जहां चाकू समेत खून से सने कुछ कपड़े मिले।

- रत्नेश के ससुर वेदप्रकाश राय पटना विधान पार्षद के रिटायर्ड सहायक सचिव हैं।

- वे हाजीपुर से अपनी पत्नी को लेकर गृह प्रवेश समारोह में शामिल होने आए थे।

- हाजीपुर का ही रहनेवाला कार ड्राइवर राकेश साथ आया था।

- 10 मई को गृह प्रवेश के बाद सास-ससुर और ड्राइवर कुछ दिन रुकने वाले थे।

- हालांकि, ड्राइवर की मौत के बाद रत्नेश के ससुर और सास उनकी पत्नी को लेकर हाजीपुर चले गए।