इस अधिकारी ने पकड़ी 962 करोड़ रुपए की टैक्स चोरी, मिला राष्ट्रपति पुरस्कार

नई दिल्ली ( 28 जनवरी ): अपने पिछले 25 साल के सेवाकाल में 961.92 करोड़ रुपये की कर चोरी पकड़ने वाले अधिकारी रवि दत्त शंकर को आखिर इसका इनाम मिल ही गया। उन्हें राष्ट्रीय पदक से सम्मानित किया गया। सतर्कता अधिकारी रवि दत्त शंकर ने 25 साल के अपने करियर में 961.92 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी पकड़ने में मदद की है। 

शंकर को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राष्ट्रपति की ओर से एक अवार्ड समारोह में सम्मानित किया। वह कई पदों पर काम करने के बाद 1992 में सतर्कता अधिकारी बने और इस समय जीएसटी सतर्कता महानिदेशालय में अधिकारी हैं। 

उन्होंने केंद्रीय सीमा शुल्क और सर्विस टैक्स से जुड़े 47 मामलों में 961.92 करोड़ रुपये की कर चोरी का पता लगाया, जिसमें से 99.44 करोड़ रुपये स्वेच्छा से जमा कर दिए गए। इसके अलावा कुल उन्होंने 541.61 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी को पकड़ने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिसमें संबंधित पक्षों ने 270.97 करोड़ रुपये स्वेच्छा से जमा किए। 

उनके विभाग की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि टैक्स चोरी को पकड़ने में शंकर का शानदार प्रदर्शन संवेदनशील मामलों में उनकी सिद्धहस्तता का प्रमाण है।