OBOR पर पाकिस्तान ने 'दोस्त' चीन को दिया तगड़ा झटका

नई दिल्ली(16 नवंबर): पाकिस्तान ने चीन को तगड़ा झटका दिया है। पाकिस्तान ने डेमर-भाषा डैम के लिए 14 अरब डॉलर की चीनी मदद की पेशकश को ठुकरा दिया है। 

- पाकिस्तानी मीडिया में इसका दावा किया गया है। इतना ही नहीं, इस्लामाबाद ने चीन से कहा है कि वह 60 अरब डॉलर के CPEC प्रॉजेक्ट से इस डैम प्रॉजेक्ट को बाहर रखे और इसे पूरी तरह पाकिस्तान को ही बनाने दे। यह पॉजेक्ट PoK में स्थित है जिस पर भारत अपना दावा करता है। 

- इससे पहले एशियन डिवेलपमेंट बैंक ने डैम प्रॉजेक्ट के लिए कर्ज देने से मना कर दिया था क्योंकि यह विवादित इलाके में बन रहा है। 

- एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने एक शीर्ष अधिकारी का हवाला देते हुए कहा है कि चीन की कंपनियों द्वारा बेहद कड़ी शर्तों को मानने के बजाय पाकिस्तान इस प्रॉजेक्ट में खुद का पैसा लगाना पसंद करेगा। 

- एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने वॉटर ऐंड पावर डिवेलपमेंट अथॉरिटी के सदर मुजम्मिल हुसैन के हवाले से कहा, 'डेमर-भाषा डैम के लिए आर्थिक मदद की चीन की शर्तें मानने योग्य नहीं थीं और हमारे हितों के खिलाफ थीं।' 

- हुसैन ने कहा कि प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने देश के अपने संसाधनों और धन के जरिए डैम बनाने की एक योजना को मंजूरी दे दी है। 

- पेइचिंग बेस्ड एक चीनी विशेषज्ञ ने कहा कि पाकिस्तान पेइचिंग की पेशकश को ठुकराने का जोखिम नहीं ले पाएगा क्योंकि इससे CPEC का महत्वाकांक्षी प्रॉजेक्ट भी अछूता नहीं रहेगा। 

- संसद की पब्लिक अकाउंट्स कमिटी के सामने दिए गए अपने प्रेजेंटेशन में हुसैन ने कहा कि चीन चाहता था कि पाकिस्तान किसी नए डैम प्रॉजेक्ट के लिए फंड हासिल करने के लिए किसी मौजूदा प्रॉजेक्ट को गिरवी रखे और इसके बाद भी ब्याज व दूसरे शुल्कों को अदा करे।

- अखबार ने हुसैन का हवाला देते हुए लिखा है कि चीन की शर्तों में डेमर-भाषा डैम के लिए फंड की खातिर किसी चल रहे दूसरे डैम को गिरवी रखा जाए।