अब 8 लाख सालाना कमाने वाले OBC को भी मिलेगा आरक्षण

नई दिल्ली (23 अगस्त): केन्द्र सरकार OBC आरक्षण में क्रीमी लेयर की सीमा को 6 लाख से बढ़ाकर 8 लाख रुपया कर दिया है। अब आठ लाख रुपये से नीचे सालाना आय वाले परिवारों को ही आरक्षण का लाभ मिलेगा। सरकार ने छह लाख से बढ़ाकर आठ लाख क्रीमीलेयर(पिछड़े में अगड़े) की सीमा कर दी है।  यह फैसला कैबिनेट की बैठक में लिया गया

अब तक ओबीसी वर्ग से ताल्लुक रखने वाले सभी उम्मीदवारों को आरक्षण का लाभ मिलने की व्यवस्था रही। मगर, अब मोदी कैबिनेट ने आर्थिक रूप से संपन्न पिछड़ा वर्ग के लोगों को आरक्षण से दूर निकालने का फैसला लिया है। केंद्र सरकार ने केंद्रीय सेवाओ में ओबीसी जातियों को मिल रहे आरक्षण को कैटैगराईजेशन के लिए एक कमीशन बनाने का फैसला किया है। सरकार ने इस कमीशन को बकायदा कैबिनेट की मंजूरी दे दी है। कमीशन ओबीसी कोटे में कोटा की संभवना पर स्टडी करेगा। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि कमेटी से 12 हफ्ते में रिपोर्ट मांगी गई है।  

इससे पहले ओबीसी कमीशन यानी NBCC ने ओबीसी आरक्षण में क्रीमी लेयर की सीमा को 6 लाख से बढ़ाकर 15 लाख करने की सिफारिश की थी। आयोग के मुताबिक आरक्षण दिए जाने के दो दशक बाद भी देखा गया है कि तय 27 फीसदी आरक्षण में से 12-15 फीसदी जगहें ही भर पाती हैं। इसके पीछे मुख्य वजह सालाना आय की उच्चतम सीमा का निर्धारण है।

इसके पहले साल 2013 में केंद्र सरकार ने OBC आरक्षण में क्रीमलेयर की सीमा को 4.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 6 लाख किया गया था।