'हिरोशिमा जाने पर माफी नहीं मांगेंगे ओबामा'

नई दिल्ली (23 मई): अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा हिरोशिमा प्रवास के दौरान हिरोशिमा घातक परमाणु हमला करने के लिये माफी नहीं मांगेंगे। ओवमा इसी हफ्ते शुक्रवार को जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे के साथ हिरोशिमा जाएंगे। ओबामा ऐसे पहले शख्स हैं जो अमेरिकी राष्ट्रपति रहते हुए हिरोशिमा जायेंगे। जापान के नेशनल टीवी चैनल एनएचके के साथ बात ओबामा ने कहा कि दोनों देशों के बीच इस दौरे को लेकर कई बार बातचीत हुई है लेकिन हिरोशिमा हादसे के लिए माफी मांगने का मुद्दा कभी सामने नहीं आया।

अमेरिका ने 6 अगस्त 1945 को हिरोशिमा पर और 9 अगस्त को नागासाकी परमाणु बम गिराये थे। नागासाकी पर हमले के छह दिन बाद जापान ने आत्मसमर्पण किया था। इस  हमले में दो हजार लोग तुरंत और 1 लाख 40 हजार लोग साल के अंत तक मारे गये थे। इस हमले को लेकर अधिकांश अमेरिकियों का कहना है कि उस युद्ध को रोकने एंव दुनिया को बर्बादी के कगार पर जाने से रोकने के लिए जापान पर परमाणु बम गिराना ही एक मात्र उपाय था।

जबकि जापानियों का मत है कि अन्याय और मानवता पर कलंक है। हालांकि जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे पहले ही कह चुके हैं कि ओबामा माफी मांगें या न मांगे इससे यात्रा या उनके सम्मान में कोई अंतर नहीं आने दिया जाएगा।