ओबामा ने लिखा, अपनी बेटियों और यंग जेनेरशन के लिए कैसी दुनिया चाहते हैं

वाशिंगटन(7 फरवरी): अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा अपने बेटियों का कितना ख्याल रखते हैं। ये सार्वजनिक जीवन में कई बार देखा जा चुका है। लेकिन अब इसका ताजा प्रमाण उन्होंने टाइम मैग्जीन में हाल ही में लिखे अपने लेख से दिया है। इसमें उन्होंने यंग जेनरेशन और अपनी बेटियों के लिए बेहतर संसार की बात की है।

ओबामा ने कहा कि आज अमेरिका की जो सबसे बड़ी ताकत है, वह है यंग जेनरेशन। ये हमारे इतिहास की सबसे बड़ी, सबसे एजुकेटेड, सबसे विविध और डिजिटली सबसे तेज पीढ़ी है। एक चीज जो मुझे मेरी बेटियों ने सिखाई है वह यह है कि आज की पीढ़ी एक अच्छे संसार की रचना के लिए किसी का इंतजार नहीं करेगी।

उन्होंने कहा किये खुद आगे जा रहे हैं और अपने लिए एक बेहतर संसार बना रहे हैं। हम ऐसे हालात बना सकते हैं, जिसमें उन्हें ऐसा करने का हर मौका मिले। हमें तय करना होगा कि वे आजाद होकर आगे बढ़ें और अपनी पसंद से जी सकें। ओबामा ने कहा कि यही कारण है कि मेरे एडमिनिस्ट्रेशन ने स्टूडेंट लोन पेमेंट को लोन लेने वाले की इनकम के हिसाब से 10 फीसदी कर दिया है। ताकि जो युवा कॉलेजों में पढ़ने जाएं उन्हें इसकी कीमत न चुकानी पड़े।

अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि क्लाइमेट चेंज से बचने के लिए हमने करीब 200 देशों के बीच हुए ऐतिहासिक समझौते का नेतृत्व किया है। लेकिन मेरी बेटियों की पीढ़ी को पेरिस के इस समझौते से कहीं पहले पता था कि अपनी पृथ्वी को बचाना एक ऐसा मुद्दा है जिसके विरोध में कोई तर्क नहीं हो सकता है। ओबामा ने युवा पीढ़ी की विचारधारा के बारे में बताते हुए कहा कि ये पीढ़ी किसी को पहले, काला या गोरा, एशियन या लैटिनो, गे या स्ट्रेट, माइग्रेंट या देश में जन्मा जैसी बातों से नहीं देखती है। यह अपनी विविधता को एक बड़े तोहफे के रूप में लेती है।