सीरिया में नरसंहार के लिए राष्ट्रपति असद, रूस और ईरान जिम्मेदार- ओबामा

वॉशिंगटन (17 दिसंबर): सीरिया में हो रहे नरसंहार पर अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बड़ा बयान दिया है। राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि सीरिया के अलेप्पो में बड़े पैमाने पर हुई हत्याओं के लिए राष्ट्रपति बशर अल-असद, ईरान और रूस जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि जब तक सीरिया पर सैन्य नियंत्रण नहीं होता, तब तक इस युद्ध को रोकने के लिए वॉशिंगटन कुछ नहीं कर सकता है। उन्होंने असद को चेतावनी देते हुए कहा कि जनसंहार के बल पर वह अपनी वैधता कायम नहीं कर पाएंगे।

राष्ट्रपति ओबामा ने साल 2016 के अपने आखिरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये बातें कही। उन्होंने कहा कि कि सीरिया में गृहयुद्ध की शुरुआत के समय अमेरिकी सेना द्वारा दखल दिए जाने के पक्ष में जनसमर्थन हासिल नहीं था, जबकि उनके हिसाब से युद्ध को रोकने का एकमात्र रास्ता यही होता। ओबामा ने कहा, 'जब तक हम सीरिया पर पूरा नियंत्रण नहीं कर लेते, तब तक समस्याएं बनी रहेंगी। ऐसा करना ही सही जान पड़ता है, लेकिन ऐसा लगता है कि वहां शांति कायम करने के लिए कीमत चुकानी होगी।' ओबामा का कार्यकाल 20 जनवरी को खत्म हो रहा है।

ओबामा ने कहा कि अलेप्पो शहर में फंसे आम नागरिकों को बाहर निकालने के लिए होने वाली कोशिशों पर नजर रखने के लिए निष्पक्ष पयर्वेक्षकों को तैनात किया जाना चाहिए। ओबामा शासन के दौरान अमेरिका सीरियन राष्ट्रपति असद और सीरिया के विद्रोहियों के बीच शांति समझौते पर बातचीत शुरू करवाने के लिए रूस को मनाने के कूटनीतिक प्रयासों में शामिल रहा है। बहुत कोशिशों के बाद भी संघर्षविराम के सारे प्रयास कामयाब नहीं हुए और अब रूस तुर्की के साथ मिलकर विद्रोहियों के नियंत्रण वाले अलेप्पा को अपने कब्जे में लेने के सैन्य अभियान में जुटा हुआ है।