अन्नाद्रमुक में दो फाड़, पन्नीरसेल्वम ने की शशिकला के खिलाफ बगावत

नई दिल्ली ( 7 फरवरी ): तमिलनाडु में सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक में आंतरिक कलह के बीच ओ. पन्नीरसेल्वम मंगलवार रात को जयललिता की समाधि पर गए और वहां अकेले में कुछ देर तक ध्यान किया। वह वहां करीब 40 मिनट तक रहे। इस दौरान बड़ी तादाद में अन्नाद्रमुक कार्यकर्ता और अन्य लोग उन्हें देखने के लिए जमा हो गए।तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पन्नीर सेल्वम सबको हैरान करते हुए जयललिता के मेमोरियल पर श्रद्धांजलि देने पहुंचे, आंख बंद कर बैठे रहे। उन्होंने कहा कि मैं यहां अम्मा (जयललिता) को श्रद्धांजलि देने आया था।पन्नीरसेल्वम ने कहा कि जयललिता मेरे सपने में आई थीं और मुझे सपने में आदेश दिया। उन्होंने कहा कि अम्मा चाहती थीं कि मैं ही मुख्यमंत्री बनूं। पन्नीर सेल्वम ने कहा कि जयललिता ने सपने में मुझसे कहा कि तुम ही जनता के प्रतिनिधि हो।उन्होंने कहा कि अम्मा अपने पीछे एक मजबूत पार्टी छोड़कर गई हैं और उन्होंने हमारे हाथ में सरकार सौंपी है। पन्नीरसेल्वम ने कहा कि मुझे सीएम पद तो दिया गया लेकिन लगातार अपमानित किया जाता रहा।