डूम्सडे क्लॉक: 2 मिनट कम हुआ प्रलय का समय, यह है बड़ी वजह

नई दिल्ली ( 26 जनवरी ): प्रलय का आकलन करने वाली प्रतीकात्मक घड़ी डूम्स डे क्लॉक के समय को 2 मिनट कम कर दिया गया है। अमेरिका और उत्तरी कोरिया के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए परमाणु युद्ध की आशंका के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। बुलेटिन ऑफ अटॉमिक साइंटिंस्ट्स में दी यह जानकारी गई है। 

बुलेटिन ऑफ अटॉमिक साइंटिस्ट्स की प्रेजिडेंट और सीईओ रैचल ब्रानसोन ने जानकारी देते हुए कहा, 'इस साल की चर्चा में परमाणु युद्ध का मामला काफी चर्चा में रहा है।' उन्होंने बताया कि उत्तरी कोरिया द्वारा नए परीक्षण, चीन, पाकिस्तान और भारत में न्यूक्लियर हथियारों को लेकर बड़ी प्रतिस्पर्धा और अमेरिका के प्रेजिडेंट के ट्वीट्स और बयानों की अनिश्चितता से खतरा बढ़ा है। 

गौरतलब है कि वर्ष 1945 में जब अमेरिका ने दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जापान के 2 बड़े शहरों हिरोशिमा और नागासाकी पर एटम बम गिराए और भारी विनाश किया था, तब दुनिया के वैज्ञानिकों को इस की चिंता हुई कि कहीं ऐसी घटनाएं पूरी धरती के विनाश का सबब न बन जाएं। इसी विचार के तहत उन्हें एक आइडिया आया कि वे एक घड़ी बना कर धरती के समक्ष मौजूद विनाश की चुनौतियों को दर्ज करें और दुनिया को इस बारे में आगाह करें कि इंसानों के कौन से कार्य पृथ्वी के खात्मे का कारण बन सकते हैं।