Blog single photo

परमाणु समझौते से अलग हुआ अमेरिका, भड़का ईरान

डोनाल्ड ट्रंप ने पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के फैसले को पलटते हुए परमाणु समझौते से अलग होने का फैसला किया है। परमाणु समझौते से अलग होने से अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि 'ईरान समझौता मूल रूप से दोषपूर्ण है, इसलिए मैं ईरान परमाणु समझौते से अमेरिका के हटने की घोषणा कर रहा हूं।'

वाशिंगटन (9 मई): डोनाल्ड ट्रंप ने पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के फैसले को पलटते हुए परमाणु समझौते से अलग होने का फैसला किया है। परमाणु समझौते से अलग होने से अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि 'ईरान समझौता मूल रूप से दोषपूर्ण है, इसलिए मैं ईरान परमाणु समझौते से अमेरिका के हटने की घोषणा कर रहा हूं।' ट्रंप ने आगाह किया कि जो भी ईरान की मदद करेगा उन्हें भी प्रतिबंध झेलना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इस फैसले से दुनिया में यह संदेश जाएगा कि अमेरिका सिर्फ धमकी ही नहीं देता है, बल्कि करके भी दिखाता है।ट्रंप के इस फैसले का ओबामा ने निराशा जताते हुए कहा कि 'मेरा मानना है कि इस समझौते में ईरान के किसी भी उल्लंघन के बिना जेसीपीओए (कार्रवाई की संयुक्त व्यापक योजना) को जोखिम में डालने का फैसला एक गंभीर गलती है।' साथ ही ओबामा ने कहा, कि 'लगातार समझौतों की उपेक्षा करने से अमेरिका की विश्वसनीयता खतरे में पड़ सकती है और साथ ही इससे विश्व की बड़ी शक्तियों के साथ हमारे मतभेद पैदा होने का भी खतरा है।'ईरान के साथ 2015 में हुए परमाणु समझौते से बाहर निकलने के अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के फैसले से संयक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने भी चिंता जताई है। उन्होंने इस समझौते को बचाए रखने के लिए अन्य सभी राष्ट्रों से इसे समर्थन देने की अपील की है।उधर ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ट्रंप के इस फैसले की कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहा कि उनका देश अगले सप्ताह से पहले से कहीं अधिक मात्रा में यूरेनियम का संवर्धन करेगा। रूहानी ने कहा कि मैं ट्रंप के फैसले पर यूरोप, रूस, चीन से बात करूंगा।

Tags :

NEXT STORY
Top