रथयात्रा की हिफाजत के लिए तैनात होंगे NSG कमांडो

नई दिल्ली(18 जून): गुजरात के अहमदाबाद में इस साल होने वाली सलाना भगवान जगन्नाथ रथयात्रा के लिए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है। शहर में 25 जून को होने वाली जगन्नाथ रथयात्रा की निगरानी पहली बार राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) करेंगे। इसके अलावा अर्द्धसैनिक बलों की 26 कंपनियां भी इस यात्रा के लिए तैनात रहेंगी।


- गुजरात के गृह मंत्री प्रदीपसिंह जडेजा ने बताया कि गांधीनगर के नजदीक रायसेन में एनएसजी हब बनाया जा रहा है। एनएसजी की एक यूनिट मेघनीनगर के गोढा कैंप के पास तैनात है। एनएसजी को दो वरिष्ठ अधिकारी और उनकी टीम ने दो दिन पहले जमालपुर स्थित जगन्नाथ मंदिर का मुआयना किया था।


- जडेजा ने बताया कि आतंकी हमलों, बंधक संकट और हाइजैक स्थिति से निपटने के लिए ट्रेंड की गई एनएसजी की यूनिट गुजरात और राजस्थान को कवर करेगी। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी के केंद्र में शपथ लेने के तुंरत बाद ही केंद्र ने 2014 में गुजरात में एनएसजी हब बनाने को मंजूरी दी थी। गांधीनगर के निकट रायसेन में एनएसजी हब बनाने के लिए सरकार ने जमीन आवंटित कर दी है और वहां काम शुरू हो चुका है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, 'चेन्नै, कोलकाता, हैदराबाद और मुंबई के बाद गुजरात एनएसजी का हब बनने वाल पांचवां स्थान है।'


- जडेजा ने कहा कि करीब इस साल होने वाली 140वीं रथयात्रा के लिए करीब 20 हजार पुलिस अधिकारी और अन्य जवान तैनात रहेंगे। उन्होंने कहा, '18 सुसज्जित हाथी, 101 ट्रक, 30 अखाड़े और 18 भजन मंडल समेत लाखों भक्त इस रथयात्रा में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री विजय रुपानी रथ यात्रा के दिन सुबह साढ़े छह बजे पूजा करेगे।' एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि ऐसा पहली बार हुआ है जब गृह मंत्री ने रथयात्रा के रूट का जायजा लिया है।