NSG, CISF को मिल सकता है अनजान यूएवी को मार गिराने का अधिकार

नई दिल्ली(10 सितंबर): सुरक्षा के दृष्टिकोण से तैयार की जा रही नयी नीति के तहत आतंकवाद-निरोधी बल एनएसजी और औद्योगिक सुरक्षा बल सीआईएसएफ को कम ंचाई पर उड़ने वाले अनजान वाहनों जैसे ड्रोन और ग्लाइडर्स को मार गिराने का अधिकार मिल सकता है।

- गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि कम ंचाई पर, बिना पायलट के उड़ान भरने वाले वाहनों से निपटने के लिए नयी नीति का मसौदा तैयार किया जा रहा है, क्योंकि ड्रोन, ग्लाइडर्स और अन्य वाहनों की मदद से आतंकवादी हमलों को अंजाम दिया जा सकता है।

- केन्द्रीय गृह मंत्रालय के सचिव के साथ हाल ही में हुई भारतीय वायुसेना, नागर विमानन मंत्रालय, केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल और अन्य के साथ हुई बैठक में इस मुद्दे पर विस्तृत चर्चा हुई।

- अधिकारी ने कहा, ड्रोन नीति का मसौदा अंतिम चरण में है। इसका मुख्य लक्ष्य यूएवी और कम ंचाई पर उड़ने वाले ऐसे ही अन्य वाहनों का विनियमन करना है। नीति को इसी महीने सार्वजनिक मंच पर रखा जाएगा, ताकि सभी पक्षकार उसपर अपनी राय दे सकें।

- उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड एनएसजी और केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल सीआईएसएफ को संभवत: कम ंचाई पर उड़ाने भरने वाले ऐसे वाहनों को मार गिराने की अनुमति दी जाएगी जिन्हें वह अनजान और खतरनाक मानते हैं।