विकिलीक्स का दावा, दुनिया के शीर्ष नेताओं की बातें सुनती है NSA

वाशिंगटन (23 फरवरी): विकिलीक्स ने अपने नए आलेख में रहस्योद्घाटन किया है कि अमेरिकी सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने विश्व के शीर्ष नेताओं जैसे इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, इटली के पूर्व प्रधानमंत्री सिल्वियो बर्लुस्कोनी और पूर्व संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की-मून की खुफियागीरी की है।

संगठन के आलेख में यह भी कहा गया है कि एनएसए ने जर्मनी की चांसलर एंजिला मार्केल और बान के बीच हुई बैठक की बातें छिपकर सुनीं, जबकि वह यह भली भांति जानती थीं कि अमेरिकी खुफिया सेवाओं के लोगों ने अन्य अवसरों पर उनका पीछा किया था। विकिलीक्स ने कहा कि एनएसए ने नेतन्याहू और बर्लुस्कोनी के बीच बातचीत, यूरोपीय यूनियन और जापानी अधिकारियों के बीच बैठक और मार्केल और फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी की निजी मुलकात की खुफियागीरी की थी।

विकिलीक्स के आलेख के मुताबिक, मार्केल ने बान की-मून से जलवायु परिवर्तन से निपटने के बारे में बातें की थीं, जबकि नेतन्याहू ने बर्लुस्कोनी से अमेरिका के ओबामा प्रशासन से पेश आने के मामले में मदद मांगी थी। वहीं सरकोजी ने इटली के पूर्व प्रधानमंत्री को उनके देश की बैंकिंग प्रणाली के खतरों के बारे में आगाह किया था।

इस रहस्योद्घाटन पर विकिलीक्स के संस्थापक जुलियन असांजे ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ की प्रतिक्रिया देखने लायक होगी, क्योंकि बिना किसी कारण के जब संयुक्त राष्ट्र महासचिव निशाने पर लिए जा सकते हैं तो विश्व के नेताओं से लेकर गलियों में झाड़ू लगाने वाले हर किसी पर खतरा है।