सरकार का धोखेबाज NRI पतियों पर शिकंजा, जब्त होगी संपत्ति और पासपोर्ट

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 14 जून ): कानून को ठेंगा दिखाने वाले बेवफा एनआरआई पतियों की अब खैर नहीं है। सरकार ने भारतीय लड़कियों से शादी कर एनआरआई पुरुषों के विदेश भाग जाने की समस्या को गंभीरता से लिया है। सरकार कानून में बड़ा बदलाव कर सकती है।सूत्रों के मुताबिक, केन्द्र सरकार जानबूझकर कोर्ट कार्यवाही को नजरअंदाज करने वाले एनआरआई पतियों की संपत्ति को जब्त करने के लिए कानून में बदलाव करेगी जिससे इस तरह के लोगों पर अदालती समन का जवाब देने का दबाव बनाया जा सके। वो एनआरआई पति जो जानबूझकर कोर्ट कार्यवाही को नजरअंदाज कर रहे उनको वेबसाइट के जरिए सम्मन भेजा जाएगा और इसके लिए कानून में जरूरी संशोधन होगा।एनआरआई लड़के से शादी में लड़कियों के उत्पीड़न और उनके साथ धोखे की शिकायतें लगातार बढ़ रही हैं। ऐसे में आकर्षक जीवनशैली का लालच देकर शादी करके महिला को छोड़कर विदेश भाग जाने वाले पतियों पर कानूनी कार्रवाई और महिला को न्याय दिलाने के रास्ते तलाशने के लिए मंत्रियों के एक समूह ने बैठक की।बैठक में महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी, कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने हिस्सा लिया। सूत्रों के मुताबिक बैठक में फैसला लिया गया कि वेबसाइट पर समन जारी होने के बावजूद अगर आरोपी पेश नहीं होता है तो उसे भगोड़ा घोषित किया जाएगा और उसका पासपोर्ट रद्द किया जाएगा। इसके अलावा आरोपी एनआरआई की पैतृक संपत्ति तबतक के लिए जब्त कर ली जाएगी जबतक कि वह अदालत में पेश नहीं हो जाता।आपको बता दें कि इससे पहले भारतीय लड़कियों से शादी कर एनआरआई पुरुषों के विदेश भाग जाने की समस्या पर अंकुश लगाने के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने कदम उठाते हुए फैयला किया था कि एनआरआई शादियों को 48 घंटों के अंदर रजिस्टर कराना होगा नहीं तो उनका पासपोर्ट और वीजा जारी नहीं किया जाएगा।