NRI जोड़े ने इंश्योरेंस के 1.20 करोड़ के लिए गोद लिए बेटे को मरवा डाला

अहमदाबाद(15 फरवरी): अहमदाबाद में  एक NRI जोड़े पर अपने ही गोद लिए बेटे की हत्या करवाने का आरोप लगा है। बेटे की उम्र 13 साल थी। पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने बच्चे के नाम किए गए इन्श्योरेंस की 1.20 करोड़ रुपए की रकम हासिल करने के लिए इस घटना को अंजाम दिया। इस जोड़े पर आरोप है कि उन्‍होंने वर्ष 2015 में जिस बच्‍चे को गोद लिया था, उसे 1.20 करोड़ रुपये की बीमा राशि हासिल करने के लिए मरवा डाला। आरोपियों के नाम आरती लोकनाथ और कंवलजीत सिंह रायजादा (पति) है, जोकि फिलहाल लंदन में रह रहे हैं।

केशोद पुलिस इंस्पेक्टर अशोक तिलवा ने बताया कि दोनों के खिलाफ 13 वर्षीय गोपाल की हत्या की साजिश का हिस्सा होने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। तिलवा ने बताया कि आरती और कंवलजीत ने नीतीश मुंद के साथ मिलकर 13 वर्षीय गोपाल को गोद लेने की साजिश रची। उन्होंने बच्चे का बीमा कराया और फिर उसे मार डाला ताकि वह बीमा राशि ले सकें। वीजा एक्सपायर होने से पहले नीतीश भी लंदन में रहता था। तीनों ने मिलकर वर्ष 2015 में गोपाल को गोद लेने के बाद मारने की साजिश रची थी।

नीतीश को हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया, जिसके बाद आरती और कंवलजीत की भूमिका का पता चला।

गोपाल की कल राजकोट अस्पताल में मौत हो गई। उस पर आठ फरवरी की रात को जूनागढ़ जिले के केशोद में दो अज्ञात मोटरसाइकिल सवारों ने चाकू से हमला किया था। तिलवा ने बताया कि गोपाल नीतीश के साथ राजकोट से मालिया लौट रहा था। आरती और उसका पति लंदन में रहते हैं।