एडल्ट कंटेंट के लिए उपन्यासकार को दो साल की कैद

नई दिल्ली (21 फरवरी): इजिप्शियन अदलात ने अरब जगत के विख्यात उपन्यासकार अहमद नाजी को दो साल कैद की सज़ा सुनायी है। अहमद नाज पर आरोप है कि उनके उपन्यास का कंटेंट सेक्सुअल और अनैतिक है। हालांकि निचली अदालत ने अहमद नाजी को इन आरोपों से बरी कर दिया था, लेकिन अभियोजन पक्ष ने इसकी ऊपरी अदालत में अपील कर दी।

नाजी के उपन्यास का एक हिस्सा वीकली सरकरी न्यूज़ पेपर 'अखबार अल अदब'ने प्रकाशित किया था। लेखकों, कलाकारों और साहित्यकारों के खिलाफ इस तरह के फैसलों के खिलाफ इजिप्ट में विरोध मुखर हो रहा है। पिछले महीने ही स्वतंत्र विचार रखने वाली जानी-मानी लेखिका फातिमा नऊत को भी एक साल की सजा सुनायी थी। उन्होंने फेसबुक पर ईद उल अज़हा पर पशु बलि देने का विरोध किया था। इसी तरह मुस्लिम रिसर्चर इस्लाम-अल-बहरी को एक टेलिवीज़न चैनल पर इस्लाम की खिलाफत के आरोप में जेल भेज दिया गया था।