NCERT की किताबें 10 साल बाद होंगी अपडेट, नोटबंदी, जीएसटी भी शामिल

नई दिल्ली (17 सितंबर): एनसीईआरटी ने अपनी किताबों को अपडेट करने की तैयारी शुरू कर दी है। इन किताबों में नए पाठ्यक्रमों को शामिल किया जाएगा। इनमें हाल में हुए नए विकास जैसे जीएसटी, नोटबंदी, बेटी बचाव बेटी बढ़ाओ के साथ स्वच्छता अभियान जैसे विषयों को शामिल किया जाएगा।

अभी जो पाठ्यपुस्तकें चल रही हैं, उनमें प्रस्तावना 30 नवंबर, 2007 की है, यानी 10 सालों से इन किताबों में सूचनाओं को न तो अपडेट किया गया है और न ही कोई नई जानकारी जोड़ी गई है। अगली जनगणना को तीन साल से कुछ ज्यादा समय ही बचे हैं लेकिन एनसीईआरटी की 8वीं क्लास की सामाजिक विज्ञान की पुस्तकों में भारत के संबंध में साक्षरता से जुड़े जो आंकड़े दिए गए हैं, वह 2001 के मुताबिक हैं। दूसरी ओर देश में आवास, बिजली और पाइप से सप्लाई होने वाले पानी से जुड़े आंकड़े 1994 में प्रकाशित आंकड़ों पर आधारित हैं। 

इसे देखते हुए एनसीईआरटी ने कुछ सूचनाओं को अपडेट करने और कुछ नई चीजों को इसमें जोड़ने की योजना बनाई है। एनसीईआरटी अपनी करीब 182 पुस्तकों को अपडेट करेगा। अब तक एनसीईआरटी ने कुल 1,334 बदलाव किए हैं यानी 7 बदलाव प्रति पुस्तक हुए हैं। गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स, नोटबंदी, बेटी बचाव बेटी पढ़ाओ और स्वच्छता जैसे विषयों को अब शामिल किया जाएगा। इसके अलावा पुस्तकों में उच्चारण संबंधित त्रुटियों को दूर किया जाएगा और भाषा को आसान बनाया जाएगा।