नोटबंदी: परेशान बैंककर्मियों ने दी आंदोलन की चेतावनी

नई दिल्ली ( 20 दिसंबर ): ऑल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन (एआईबीईए) तथा ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (एआईबीओए) ने नोटबंदी के बाद विभिन्न बैंकों तथा उनके कर्मचारियों के समक्ष आई दिक्कतों के मद्देनजर विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है। दोनों बैंक यूनियनों ने कहा कि इस आंदोलन के तहत 28 दिसंबर को प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बाद यूनियनें 29 दिसंबर को वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र देंगी। यूनियन के सदस्य 2 और 3 जनवरी, 2017 को भी प्रदर्शन करेंगे।

एआईबीईए के महासचिव सी एच वेंकटचलम तथा एआईबीओए के महासचिव एस नागराजन ने बयान में कहा कि हमारे संगठनों के आह्वान के तहत हमारी इकाइयों ने सभी प्रमुख केंद्रों पर विरोध प्रदर्शन की तैयारी शुरू कर दी है। हम रिजर्व बैंक के स्थानीय अधिकारियों से मिलकर उन्हें ज्ञापन देंगे। यूनियनों की मांग है कि सभी बैंकों और शाखाओं को करेंसी की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित की जाए, सभी एटीएम में पैसा डाला जाए और बैंकों को दी जाने वाली नकदी को लेकर पारदर्शिता बनाई जाए।

बयान जारी कर दोनों यूनियनों ने कहा कि अगर आरबीआई पर्याप्‍त मात्रा में बैंकों में नकद राशि उपलब्‍ध नहीं करा पाता है तो बैंकों में होने वाले नगद लेन-देन को पर्याप्‍त प्रभाव से बंद कर देना चाहिए। साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा कि जब बैंकों में पैसा था ही नहीं तो जिन लोगों के पास बहुत ज्‍यादा मात्रा में पैसा पकड़ा गया है, उन सब के खिलाफ सीबीआई जांच होनी चाहिए।