मानसरोवर में स्नान पर कोई रोक नहीं: सुषमा स्वराज

नई दिल्ली ( 28 मई ): कैलास मानसरोवर यात्रा पर गए तीर्थ यात्रियों के आरोप पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सफाई दी है। उन्होंने कहा, 'मानसरोवर झील में स्नान करने पर कोई रोक नहीं है, लेकिन इसकी जगह तय है। आप कहीं भी डुबकी नहीं लगा सकते।' बता दें कि कुछ श्रद्धालुओं ने आरोप लगाया था कि चीनी अफसर उन्हें मानसरोवर झील में नहाने की इजाजत नहीं दे रहे। हालांकि, ये तीर्थयात्री मानसरोवर यात्रा का हिस्सा नहीं हैं। यह यात्रा अगले महीने से शुरू होगी।गौरतलब है कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसी महीने कैलाश मानसरोवर यात्रा को लेकर चीन के विदेश मंत्री वांग यी से बात की थी। इसके बाद चीन ने श्रद्धालुओं के लिए नाथूला दर्रा खोलने की सहमति जताई थी और इसकी जानकारी खुद सुषमा स्वराज ने दी थी।बता दें कि पिछले साल जून से अगस्त के बीच करीब 72 दिनों तक चले डोकलाम विवाद के बाद चीन ने कैलाश यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए नाथूला पास बंद कर दिया था। इसके बाद इसी साल मई में सुषमा ने वांग यी से बातचीत की और कहा, "दोनों सरकारों के बीच संबंध तब तक समृद्ध नहीं हो सकते जब तक एक-दूसरे देश के लोगों के बीच रिश्ते मजबूत न हों। पिछली यात्रा के दौरान नाथुला दर्रा बंद कर दिया गया था तो उससे लोगों को बहुत धक्का लगा था।"बातचीत के बाद सुषमा ने कहा था- मुझे यह घोषणा करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि अब यह खोल दिया गया है। यात्रियों के लिए हेल्पलाइन भी शुरू की गई है।