500 साल पहले हुई थी भविष्यवाणी- मोदी का एशिया पर अजेय शासन होगा

नई दिल्ली (22):  नास्त्रेदमस की सांकेतिक भविष्यवाणी को  सही माना जाये तो मोदी भारत ही नहीं वरन पूरी एशिया पर अजेय शासन करेंगे।

- आज से करीब 500 साल पहले 14 अथवा 21 दिसम्बर 1503 को फ्रांस में जन्मे मिशेल डी नास्त्रेदमस को ज्योतिष के मामले में प्रसिद्धी हासिल की।

- नास्त्रेदमस को उनकी 1555 में आई पुस्तक लेस प्रोफेटिज के लिए जाना जाता है।

- उनकी भविष्यवाणियों में से ज्यादातर सही साबित हुई। इनमें से एक भविष्यवाणी भारत को लेकर भी है।

- टीकाकारों का मत है कि ये भविष्यवाणी थी जिस देश-काल-वातावरण और व्यक्ति के बारे में की गयी थी वो पूरी तरह से नरेंद्र मोदी पर सटीक बैठती है।

- नास्त्रेदमस ने कहा था कि एकअजेय शासक यूरोप की जगह भारत में जन्म लेगा।

- इसके बुद्धि-चातुर्य और ताकत की वजह से यह एशिया पर राज करेगा।

- नास्त्रेदमस ने यह भी कहा कि उसका जन्म संसार में वहां होगा जहां तीन समुद्र आकर मिलते हैं।

- उस शासक के लिए पवित्र दिन गुरूवार होगा।

- विश्व में  एक ही जगह है जहां तीन समुद्र मिलते हैं, वह है हिन्द महासागर।

- साथ ही गुरूवार का दिन केवल सनातन धर्म में ही पवित्र माना जाता है।

- मुस्लिम शुक्रवार को, यहूदियों में शनिवार को और ईसाईयों में रविवार को पवित्र माना जाता है।

- नास्त्रेदमस ने यह साफ-साफ कहा है कि भारत का यह शासक एशिया को अपने शासन से जोड़ेगा।

- भविष्यवाणी संकेतों की व्याख्या करने पर पता चलता है कि भारत और रूस पहले से कहीं ज्यादा निकट आ जायेंगे।

- ध्यान रहे, नास्त्रेदमस ने अमेरिका के ट्विन टॉवर पर हमले के जैसे संकेत दिए थे, ठीक वैसा ही हमला हुआ।

- इसके अलावा उन्होंने सोवियत रूस के विघटन,ईसाईयत-इस्लामियत की जंग, खाड़ी युद्ध और मध्य एशिया में विप्लव के संकेत अपनी भविष्यवाणी में दिये जो  आगे चलकर सटीक निकले।