नॉर्थ कोरिया का अमेरिका पर बड़ा साइबर अटैक, एफ-15 समेत हज़ारों डॉक्यूमेंट्स उड़ाए

नई दिल्ली (20 जून): उत्तर कोरिया की साइबर आर्मी ने एक बार फिर अमेरिका और साउथ कोरिया को बड़ी शिकस्त दी है। उत्तर कोरिया की साइबर आर्मी ने अमेरिका के साइबर मोर्चों को ध्वस्त करते हुए 40 हजार से ज्यादा डाक्यूमेंट्स पर कब्जा कर लिया है। इनमें लड़ाकू जहाज एफ -15 भी शामिल है। इसके अलावा जासूसी करने वाले जहाजों की तस्वीरें भी उत्तर कोरिया ने उड़ा ली हैं। प्योंगयांग की ओर से हुए इस महा-साइबर अटैक की पुष्टि खुद दक्षिण कोरिया की कंपनी कोरिया एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज ने की है। कोरिया एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज के मुताबिक रक्षा उद्योग से जुड़े 40 हजार से ज्यादा दस्तावेज चोरी कर लिए गए हैं। इनमें दो इंजन वाले सुपरसोनिक एफ-15 भी शामिल हैं।

कोरिया एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज की यह जानकारियां काफी संवेदनशील हैं क्यों कि यही वो कंपनी है जो अमेरिका की नंबर दो डिफेंस फर्म बोइंग के साथ करार के तहत एफ-15 के विंग बनाती है। इस लड़ाकू विमान का इस्तेमाल दक्षिण कोरियाई फौज भी करती है। यही कंपनी दक्षिण कोरियाई सेना के काम आने वाले एयरक्राफ्ट के औजार भी बनाती है। ऐसे में किम जोंग के जासूसों की इस कारिस्तानी से साउथ कोरिया के होश उड़े हुए हैं। अमेरिकी जांच अधिकारी भी मानते हैं कि उत्तर कोरिया ने साइबर जंग के लिए जासूसों की बड़ी फौज खड़ी की है, जिसके जरिए वो अक्सर हैकिंग को अंजाम देता रहता है। दरअसल, बाज की तरह दिखने वाला F-15 बेहद ताकतवर और सटीक मार करने वाला लड़ाकू विमान है।