उत्तर कोरिया ने देश के सालगिरह पर किया परमाणु परीक्षण!, विश्व में मची खलबली

उत्तर कोरिया में भूकंप के झटके,  परमाणु परीक्षण स्थल के करीब था केंद्र

नई दिल्ली (9 सितंबर): उत्तर कोरिया में भारी भूंकप के झटके महसूस किए गए हैं। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.3 मापी गई। भूकंप का केंद्र उत्तरी पूर्वी सुंगजीबागेम क्षेत्र में जमीन के अंदर 18 किलोमीटर की गहराई में स्थित था। जापान, दक्षिण कोरिया और चीन की ओर से भी उत्तर कोरिया द्वारा परमाणु परीक्षण किये जाने के कारण भूकंप आने की आशंका जताई गई है।

दक्षिण कोरिया की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी इस मामले पर आकस्मिक बैठक कर रही है। ये संभावित परमाणु परीक्षण 1948 में उत्तर कोरिया के गठन की सालगिरह के मौक़े पर हुआ है। दो महीने पहले ही अमेरिका की उत्तर कोरिया की निगरानी परियोजना अमेरिकी 38 उत्तर ने सैटेलाइट तस्वीरों के जरिए नॉर्थ कोरिया के परमाणु परीक्षण स्थल पर बड़े पैमाने पर गतिविधि रिकॉर्ड की थी। इसी साल जनवरी माह में हुए चौथे परमाणु परीक्षण के बाद उत्तर कोरिया के खिलाफ आर्थिक और दूसरे प्रतिबंधों को कड़ा कर दिया गया था।

जापान के प्रधानमंत्री शिंज़ो अबे ने कहा है कि अगर उत्तर कोरिया कोई परीक्षण करता है तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। चीन उत्तर कोरिया का सबसे करीबी देश है। हालांकि, वो उसके परमाणु परीक्षणों के खिलाफ है लेकिन साथ ही कोई ऐसा कदम नहीं उठाना चाहता जिससे दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच तनाव पैदा हो। अमरीका ने भी कहा है कि वो पूरे मामले पर नज़र बनाए हुए है।

अमेरिका ने 6 जुलाई को उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन को मानवाधिकारों के हनन के लिए ब्लैकलिस्टिड कर दिया था। जिसके बाद से ही ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि उत्तर कोरिया पांचवां परमाणु परीक्षण कर सकता है।

नॉर्थ कोरिया ने कब-कब किए न्यूक्लियर टेस्ट? - नॉर्थ कोरिया 2006, 2009, 2013 और 2016 में न्यूक्लियर बम की टेस्टिंग कर चुका है। - 9 अक्टूबर, 2006- पहली बार जमीन के अंदर किया न्यूक्लियर टेस्ट। यूएस से एटमी वॉर का बताया था खतरा। - 25 मई, 2009- दूसरी बार किया न्यूक्लियर टेस्ट। - 13 जून, 2009- नॉर्थ कोरिया ने कहा कि वो यूरेनियम एनरिचमेंट करेगा। इसे न्यक्लियर वेपन्स बनाने की संभावना माना गया। - 11 मई, 2010- न्यूक्लियर फ्यूजन रिएक्टर बनाने का दावा किया। आशंका जताई गई कि नॉर्थ ज्यादा पावरफुल बम बनाएगा। - 13 फरवरी, 2013- तीसरी बार न्यूक्लियर टेस्ट किया। - 10 दिसंबर, 2015- तानाशाह उन का दावा- हासिल की हाइड्रोजन बम टेस्ट की कैपेबिलिटी। - 6 जनवरी, 2016- हाइड्रोजन बम का टेस्ट किया।

मिसाइलों के भी टेस्ट किए - फरवरी, 2016- लॉन्ग रेंज मिसाइल टेस्ट किए। - 2 मार्च, 2016- लेजर गाइडेड एंटी-टैंक मिसाइल। - 4 मार्च, 2016- मल्टीपल रॉकेट लॉन्च सिस्टम। - 5 सितंबर, 2016- तीन मिसाइलों के टेस्ट किए। - नॉर्थ कोरिया छोटी मिसाइलों के अलावा रॉकेट इंजन का टेस्ट भी कर चुका है।