साउथ कोरिया का दावा: साल के अंत तक नॉर्थ कोरिया बना सकता है 20 परमाणु बम

नई दिल्ली(14 सितंबर): नॉर्थ कोरिया और एटमी प्रोग्राम को लेकर साउथ कोरिया रोज नए दावे कर रहा है। साउथ कोरिया के वेपन्स एक्सपर्ट का कहना है कि नॉर्थ कोरिया एटम बम बनाने के लिए जरूरी यूरेनियम भंडार बढ़ाने की लगातार कोशिश कर रहा है। जल्द ही उसके पास 150 किलो तक एनरिच्ड यूरेनियम होगा। इस मटेरियल से साल के अंत तक 20 बम बनाए जा सकते हैं। इससे पहले साउथ कोरिया ने नॉर्थ के जल्द ही 6th न्यूक्लियर टेस्ट करने की बात भी कही थी। 9 सितंबर को नॉर्थ कोरिया ने अपना 5th एटमी टेस्ट किया था। 

- नॉर्थ कोरिया के न्यूक्लियर प्रोग्राम के एक्सपर्ट सीगफ्रीड हेकर के मुताबिक, 'नॉर्थ के पास न्यूक्लियर मटेरियल का पर्याप्त भंडार है। यह बात उसके हाल ही में किए गए 5th टेस्ट से जाहिर हो जाती है। वो पिछले कई साल से वेपन्स के हिसाब से मटेरियल जुटा रहा है।'

- 'माना जा रहा है कि इस साल तक नॉर्थ कोरिया के पास 150 किलो (330 पाउंड) एनरिच्ड यूरेनियम होगा।'

- हेकर ने ये बात जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की 38 North नाम की वेबसाइट के अपने आर्टिकल में लिखी है।

- हेकर ये भी कहते हैं, 'एक अनुमान के मुताबिक, नॉर्थ कोरिया के पास 32-54 किलो तक प्लूटोनियम है। 2016 के अंत तक उसके पास पर्याप्त न्यूक्लियर मटेरियल होगा।'

- 'नॉर्थ कोरिया के एनरिचमेंट प्रोग्राम का न्यूक्लियर वाइल्डकार्ड की तरह देखा जा सकता है। वेस्टर्न एक्सपर्ट्स ये नहीं जानते कि नॉर्थ कितना एडवान्स्ड है।'

कैसे किया जाता है नॉर्थ कोरिया के एटमी मटेरियल आकलन?

- नॉर्थ कोरिया के पास कितना प्लूटियम है, इसका आकलन उसके रिएक्टर ऑपरेशन की सैटेलाइट इमेज के आधार पर किया जाता है।

- साउथ कोरियाई डिफेंस मिनिस्टर हान मिन-कू के मुताबिक, नॉर्थ कोरिया के पास 40 किलो प्लूटोनियम है।

नॉर्थ कोरिया के एटमी प्रोग्राम का पाक कनेक्शन

- कैलिफोर्निया के मिडलबरी इंस्टीट्यूट के जैफरी लुइस के मुताबिक, 'नॉर्थ कोरिया को योंगब्योन रिएक्टर से अनप्यूरीफाइड प्लूटोनियम और दो साइट्स से एनरिच्ड यूरेनियम मिलता था। बाद में नॉर्थ ने एनरिच्ड यूरेनियम प्रोग्राम को मजबूत कर लिया जिससे उसके वेपन्स प्रोडक्शन बढ़ गया।'

- 2003 में अमेरिका ने कहा था कि नॉर्थ कोरिया, पाकिस्तान की मदद से अपना एनरिचमेंट प्रोग्राम चला रहा है।

- पाक के पूर्व प्रेसिडेंट परवेज मुशर्रफ ने बताया था कि 1999 में एक्यू खान (पाक के बदनाम न्यूक्लियर साइंटिस्ट) ने करीब 2 दर्जन रिएक्टर और कुछ टेक्नीकल एक्सपर्ट्स नॉर्थ कोरिया को दिए थे।

- हेकर ने मई में दी अपनी रिपोर्ट में कहा था कि नॉर्थ के एक रिएक्टर की डिजाइन पाक के पी-2 से मिलती-जुलती है।

- अमेरिका के नॉन-प्रोलिफिरेशन रिव्यू के एडिटर जोशुआ पॉलक के मुताबिक, 2009 में नॉर्थ कोरिया ने यूरेनियम तैयार की टेक्नीक हासिल कर ली थी।