नॉर्थ कोरिया ने की न्यूक्लियर टेस्ट की तैयारी, किम जोंग-उन ने दी धमकी


नई दिल्ली(13 अप्रैल): नॉर्थ कोरिया, पुंगगाय-री साइट पर 6th न्यूक्लियर टेस्ट के लिए तैयार है। '38 नॉर्थ मॉनिटरिंग ग्रुप' ने इस बात की जानकारी दी है। इसको लेकर कोरियाई पेनिनसुला (प्रायद्वीप) में तनाव बढ़ गया है।


- ग्रुप ने ये भी बताया है कि एटमी टेस्ट के लिए साइट पर पूरी तैयारियां कर ली गई हैं। इस बीच, नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन ने कहा, "कोरियाई आर्मी एक बार फिर तैयार है। हमला करने वालों को हम जंग के मायने समझा देंगे।"


- न्यूज एजेंसी की खबर के मुताबिक, '38 नॉर्थ मॉनिटरिंग ग्रुप' नॉर्थ कोरिया से जुड़ी एक एनालिसिस वेबसाइट है।


- इसके मुताबिक, "सैटेलाइट तस्वीरें बताती हैं कि नॉर्थ कोरिया के पुंगगाय-री यानी न्यूक्लियर टेस्ट साइट पर 12 अप्रैल से लगातार हलचल हो रही है। यहां कमांड सेंटर के पास सिक्युरिटी भी दिखाई दी है।"


- इसके अलावा उन रॉकेट इंजन का भी टेस्ट कर चुका है। अमेरिका ने आशंका जताई थी कि नॉर्थ कोरिया जल्द ही इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (ICBM) का टेस्ट कर सकता है, जो न्यूक्लियर वॉरहेड ले जाने में भी कैपेबल होगी।


- 15 अप्रैल को नॉर्थ कोरिया ने अपने देश के फाउंडर किम II-सुंग की 105th बर्थ एनिवर्सरी मनाएगा। संभावना जताई जा रही है कि नॉर्थ कोरिया फिर से मिसाइल या एटमी टेस्ट को अंजाम दे सकता है।


- 'वॉइस ऑफ अमेरिका' ने 12 अप्रैल को यूएस अफसरों के हवाले से कहा था कि नॉर्थ कोरिया ने टनल में एक एटमी डिवाइस रखी है, जिसे शनिवार को ब्लास्ट किया जा सकता है।


- वहीं, डोनाल्ड ट्रम्प वॉर्निंग दे चुके हैं, "अगर चीन ने साथ नहीं भी दिया तो अमेरिका अकेले ही नॉर्थ कोरिया पर एक्शन ले सकता है। हम वहां अपना ताकतवर जंगी जहाज बेड़ा भेज चुके हैं। हमारे पास पावरफुल सबमरीन्स भी हैं।"


- चीन ने अमेरिका से अपील की है कि नॉर्थ कोरिया मसले का हल शांति से निकाला जाए।


- यूएस ने 9 अप्रैल को कोरियाई पेनिनसुला में अपने जंगी जहाज कार्ल विन्सन को भेजा था।


- नॉर्थ कोरियाई स्टेट मीडिया के मुताबिक, उन अपने स्पेशल फोर्स कमांडो के ऑपरेशन पर नजर रखे हुए है।


- वहीं, नॉर्थ पहले ही कह चुका है कि वह जंग के लिए तैयार है।


- स्टेट मीडिया के मुताबिक, "किम अपनी फौज से खुश है। उसने कहा कि कोरियाई आर्मी फिर से खुद को साबित करने के लिए तैयार है। हमलावर को दिखा देंगे कि बंदूक की ताकत और असल में जंग क्या होती है।"


- बता दें कि अमेरिका और साउथ कोरिया ज्वाइंट मिलिट्री एक्सरसाइज कर रहे हैं। नॉर्थ कोरिया इसे जंग की तैयारी करार दिया है।