उत्तर कोरिया ने दुनिया को दिखाई अपनी सैन्य ताकत, कहा- परमाणु हमले के लिए तैयार

नई दिल्ली ( 16 अप्रैल ): उत्तर कोरिया की परमाणु महत्वाकांक्षाओं के चलते बढ़ते तनाव के बीच किम जोंग-उन ने आज शक्ति प्रदर्शन के लिए निकाली गई परेड का निरीक्षण किया और कदम ताल करते हुए सैनिकों को सलाम किया। सैनिकों के साथ-साथ टैंकों और अन्य सैन्य उपकरणों को भी परेड में शामिल किया गया था। उत्तर कोरिया के सरकारी टेलीविज़न के सीधे प्रसारण में दिखाया गया कि ऑनर गार्ड का निरीक्षण करने के बाद किम ने सेना और पार्टी के शीर्ष नेताओं के साथ चौराहे पर चल रही परेड को देखा। 


संस्थापक किम इल सुंग की 105 वीं जयंती पर आयोजित भव्य समारोह में उत्तर कोरिया ने अंतर महाद्वीपीय मिसाइल (आइसीबीएम) का भी प्रदर्शन किया। वहां की सेना का दावा है कि यह मिसाइल करीब चार हजार किलोमीटर की दूरी पर स्थित अमेरिका तक पहुंच सकती है।


राजधानी प्योंगयांग में आयोजित परेड में हजारों सैनिकों ने भारी साजो-सामान के साथ शिरकत की और तानाशाह किम जोंग उन को सलामी दी। समारोह में अमेरिका की तरफ से हमला होने पर परमाणु हथियार से जवाब देने की धमकी दी गई। इस कार्यक्रम की कवरेज के लिए बड़ी संख्या में विदेशी पत्रकार प्योंगयांग आमंत्रित किये गए थे।


परेड के दौरान ट्रकों पर रखी केएन-जीरो एट मिसाइलें प्रदर्शित की गईं। सैन्य विशेषज्ञों के अनुसार यह मिसाइल अमेरिका तक मार करने में सक्षम हैं लेकिन इसके तकनीक परीक्षण का दौर अभी पूरा नहीं हुआ है। परेड में नए तरीके लांचर भी प्रदर्शित किये गए।

कोरियाई प्रायद्वीप में निरंतर बिगड़ रहे हालात को काबू में लाने के लिए चीन ने रूस से मदद मांगी है। चीन के विदेश मंत्री वांग ई ने फोन पर अपने रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव से बात की।


बताया कि कोरियाई प्रायद्वीप में हालात बिगड़े तो वे किसी के भी हित में नहीं होंगे। वांग ई ने रूस से प्रभाव का इस्तेमाल करके दोनों पक्षों को वार्ता की टेबल पर लाने की गुजारिश की।