किम जोंग पर UN का बड़ा शिकंजा, अब बूंद-बूंद पेट्रोल को तरसेगा उत्तर कोरिया !

नई दिल्ली (23 दिसंबर): सनकी तानाशाह किम जोंग की हरकतों से परेशान होकर संयुक्त राष्ट्र संघ ने उत्तर कोरिया पर अपना शिकंजा और कस दिया है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंध लगा दिए हैं। इसके तहत पेट्रोलियम पदार्थों तक उत्तर कोरिया की पहुंच और विदेश में रहने वाले उसके नागरिकों से होने वाली कमाई को सीमित कर दिया गया है।

अमेरिका की ओर से पेश किए गए प्रस्ताव को 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद ने सर्वसम्मति से मंजूरी दे दी। इसके तहत उत्तर कोरिया के लिए लगभग 90 फीसदी रिफाइंड पेट्रोलियम उत्पादों के निर्यात पर प्रतिबंध रहेगा। इसकी सालाना अधिकतम सीमा पांच लाख बैरल तय होगी। इसके चलते उत्तर कोरिया में पेट्रोलियम उत्पादों का संकट पैदा हो सकता है।

इसके अलावा उत्तर कोरिया के लिए कच्चे तेल के निर्यात को कम कर एक साल में 40 लाख बैरल पर लाने का भी प्रस्ताव है। अगर उसने फिर परमाणु या मिलाइल परीक्षण किए इसे और कम किया जा सकता है। प्रस्ताव में 24 महीनों के भीतर विदेश में काम कर रहे उत्तर कोरियाई नागरिकों को स्वदेश भेजना शामिल है। साथ ही उत्तर कोरिया के लिए खाद्य उत्पादों, मशीनरी, लकड़ी, जहाजों और बिजली के उपकरण के निर्यात पर रोक लगेगी।