सोया अधिकारी तो किम ने एंटी एयरक्राफ्ट गन से मरवाया

 

नई दिल्ली (30 अगस्त): नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन ने मीटिंग में नींद की झपकी आ जाने पर दो वरिष्‍ठ अधिकारियों को सरेआम एंटी एयरक्राफ्ट गन से मौत के घाट उतरवा दिया है।

दक्षिण कोरिया के जूंगआंग इल्‍बो अखबार ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि एक इनमें से एक की पहचान री यांग-जिन के रूप में हुई है, जो शिक्षा मंत्रालय में अधिकारी था। उसकी गलती सिर्फ इतनी थी कि वह किम के साथ हुई एक बैठक में सो गया था।

अखबार लिखता है, ”किम की अध्‍यक्षता में हुई बैठक में सोता पाए जाने पर वह उनके गुस्‍से का शिकार हो गया। उसे मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया गया और सुरक्षा मंत्रालय ने उससे गहन पूछताछ की। उसके भ्रष्‍टाचार जैसे अन्‍य आरोपों की वजह से भी मौत की सजा दी गई।”

मौत की सजा पाने वाले दूसरे अधिकारी का नाम ह्वांग मिन है, जो कि कृषि मंत्रालय से था। अखबार के मुताबिक, उसे इसलिए मारा गया ”क्‍योंकि उसने जिन नीतियों का प्रस्‍ताव रखा, उन्‍हें किम जोंग-उन के नेतृत्‍व को सीधी चुनौती समझा गया।” इन नीतियों की जानकारी नहीं दी गई मगर इस बात की पुष्टि की गई है कि ह्वांग को जून के अंत में उत्‍तर कोरिया की संसद में हुई बैठक में हटा दिया गया था। दोनों अधिकारियों को फियोंगयांग की मिलिट्री एकेडमी में एंटी-एयरक्राफ्ट गन के जरिए मौत की सजा दी गई।