नॉर्थ कोरिया पर एक्शन की तैयारी में अमेरिका


वाशिंगटन (31 जुलाई):
एक के बाद एक मिसाइल परिक्षण करने के बाद नॉर्थ कोरिया और अमेरिका में काफी ठन गई है। अमेरिका ने नॉर्थ कोरिया से बातचीत को लेकर मना करते हुए एक्शन का मन बना लिया है।

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने कहा कि सुरक्षा परिषद का आपात सत्र आयोजित करने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने आगाह किया कि उत्तर कोरिया द्वारा बार-बार किए जा रहे उल्लंघन को देखते हुए परिषद के एक और कमजोर प्रस्ताव से कुछ नहीं होने वाला है। उत्तर कोरिया ने एक नई अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपित की थी। विशेषज्ञों का कहना है कि यह मिसाइल अमेरिका के मुख्य भूभाग तक पहुंच सकती है।

हेली ने चीन, जापान और दक्षिण कोरिया से प्योंगयांग पर शिकंजा कसने की अपील की। उन्होंने कहा, 'उत्तर कोरिया पर अंतरराष्ट्रीय दबाव नहीं बढ़ाने वाला सुरक्षा परिषद के किसी अतिरिक्त प्रस्ताव कोई मतलब नहीं है। इससे उत्तर कोरिया के तानाशाह को यह संदेश जाएगा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय उनको गंभीरता से चुनौती देने के लिए तैयार नहीं है। चीन को अब यह तय करना होगा कि उसे इस महत्वपूर्ण कदम को उठाना है या नहीं, बात करने का समय अब खत्म हो चुका है। इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी इस मामले को लेकर चीन पर नाराजगी जता चुके है।'