65 साल पहले हुए कोरियाई युद्ध में बिछड़े परिवार फिर मिलेंगे

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जून): नॉर्थ कोरिया के सुप्रीम लीडर किम जोंग उन और अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के बीच ऐतिहासिक मुलाकात के बाद कोरियाई क्षेत्र से लगातार अच्छी खबरें आ रही हैं। कभी जंग के मुहाने पर खड़े नॉर्थ और साउथ कोरिया में अब इस बात पर सहमति बनी है कि कोरिया युद्ध के दौरान बिछड़े परिवारों को मिलाने की प्रक्रिया अगस्त में फिर शुरू की जाए। शुक्रवार को परिवारों के रीयूनियन को लेकर सहमति बनी। 

2015 के बाद इस तरह की यह पहली मीटिंग होगी। नार्थ और साउथ कोरिया शुक्रवार को 1950-53 कोरियाई युद्ध में अलग हुए परिवारों को दोबारा मिलाने के लिए तैयार हो गए है। यह पुनर्मिलन 20 से 26 अगस्त को होगा। 2015 के बाद इस तरह की यह पहली मीटिंग होगी। सोल-प्योंगयांग के संयुक्त बयान में कहा गया है, ' पुनर्मिलन 20 अगस्त से 26 अगस्त के बीच होगा और एक साइड से 100 लोगों को चुना जाएगा।'

अप्रैल में किम जोंग और साउथ कोरिया के प्रेजिडेंट मून जेई-इन के बीच ऐतिहासिक समिट के बाद हुए समझौतों में से फैमिली रीयूनियन भी एक है, जो किम और ट्रंप की मुलाकात के बाद मूर्त रूप लेगा। शुक्रवार को दोनों देशों के अधिकारी नॉर्थ के माउंट कुमगांग रिजॉर्ट में मिले और अगस्त का महीना रीयूनियन के लिए तय किया गया। सोल-प्योंगयांग के संयुक्त बयान में कहा गया है, 'रीयूनियन 20 अगस्त से 26 अगस्त के बीच होगा और एक साइड से 100 लोगों को चुना जाएगा।' बताया गया है कि रीयूनियन माउंट कुमगांग रिजॉर्ट में होगा, जिसकी जांच दक्षिण कोरिया के अधिकारी अगले हफ्ते से शुरू करेंगे। साउथ कोरियन रेड क्रॉस के पास केवल 57,000 लोगों ने बिछड़े हुए अपने लोगों से मिलने के लिए पंजीकरण कराया है। इनमें से ज्यादातर की उम्र 70 साल से ज्यादा है। इनमें से कुछ ही भाग्यशाली होंगे जिन्हें मुलाकात का मौका मिलेगा। उनके लिए यह बेहद भावुक क्षण होगा क्योंकि दशकों के बीते समय की बातों के लिए उन्हें काफी कम समय दिया जा रहा है।