लखनऊ: अंबेडकर यूनिवर्सिटी में नाॅनवेज बैन, विरोध में उतरे छात्र

लखनऊ (3 मई): बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर सेंट्रल यूनिवर्सि‍टी में मंगलवार से नॉनवेज पर रोक लग गई है। यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना है कि 14 अप्रैल को उस्मानिया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर कांचा इलइया ने यहां बीफ खाने के सपोर्ट में एक बयान दि‍या था। इससे यहां का माहौल बि‍गड़ गया था। इसलिए ऐसा किया गया।

वहीं इस बैन के बाद 200 छात्र इसके विरोध में उतर आए हैं। बीबीएयू के प्रवक्‍ता प्रो. कमल जायसवाल ने बताया कि 14 अप्रैल को हैदराबाद के उस्मानिया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर कांचा इलइया डॉ. अंबेडकर पर एक सेमिनार के लि‍ए आए थे। उन्होंने कहा था,‍'हमलोग शाकाहारी हैं, इस वजह से हमारा दिमाग डिब्बा हो गया है। हम बीफेरियंस थे। बीफ खाना भूल गए, इसलिए इंडिया बाकी देशों से पिछड़ गया। विदेशों में सभी बीफ खाते हैं, इसलिए उनका दिमाग तेजी से बढ़ रहा है।' इलइया के बयान पर माहौल गरम हो गया और यूनिवर्सिटी में हंगामा हो गया।

छात्रों ने किया विरोध दलित छात्र नेता अजय कुमार ने कहा कि प्रो. कमल जायसवाल दलित विरोधी हैं, इसलिए उन्होंने नॉनवेज पर बैन लगाया है। हम उनकी बर्खास्तगी चाहते हैं। वहीं समाजवादी छात्र नेता अंकित सिंह बाबू ने कहा कि भोजन पर पाबंदी ठीक नहीं है। सबको अपनी पसंद से भोजन करने का हक है।