माल्या के खिलाफ निकला 'नॉन बेलेबल वॉरंट'

मुंबई (18 अप्रैल): शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ मुंबई की विशेष अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय की याचिका पर गैर-जमानती वारंट किया है। इससे पहले विदेश मंत्रालय ने माल्या का डिप्लोमैट पासपोर्ट चार हफ्ते के लिए निलंबित किया था।

कहा जा रहा है कि गैर-जमानती वारंट जारी होने के बाद अब माल्या के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी हो सकता है। 17 बैंकों का करीब 9 हजार करोड़ रुपए का ऋण चुकाए बगैर माल्या लंदन चले गए। अदालत में सुनवाई के दौरान किंगफिशर एयरलाइंस के वकील ने बैंकों के ऋण से विदेशों में संपत्ति खरीदने के प्रवर्तन निदेशालय के आरोपों को खारिज कर दिया।

प्रवर्तन निदेशालय बैंकों के ऋण से विदेशों में माल्या द्वारा खरीदी गई संपत्ति मामले की जांच कर रहा है। किंगफिशर एयरलाइंस ने आरोपों के खिलाफ विशेष अदालत में याचिका दाखिल की है। ईडी की तरफ से तीन समन भेजने के बावजूद माल्या पेश नहीं हुए। इसके बाद एजेंसी ने विशेष अदालत में गैर जमानती वारंट जारी करने के लिए याचिका दाखिल की थी।

ईडी ने बैंकों के 9000 करोड़ रुपए लेकर भागने वाले विजय माल्या के खिलाफ गैर-जमानती वॉरंट और रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की मांग की थी। जिस पर कोर्ट ने अपने फैसला सोमवार तक के लिए सुरक्षित रखा था।