सताती है फोन से दूरी की चिंता तो हो जाएं सावधान

नई दिल्ली(6 सितंबर): रोज सुबह आंख खुलते ही आप सबसे पहला काम क्या करते हैं? अपना फोन चेक करते हैं, है ना? चलिए ठीक है। अब जरा कल्पना कीजिए कि एक दिन सुबह आपकी आंख खुलती है और आप देखते हैं कि आपका फोन बिस्तर के किनारे नहीं है। उस समय आपको कैसा महसूस होगा? क्या आप चिंतित हो जाते हैं? क्या आपके दिल की धड़कनें बढ़ जाती हैं? अगर आपके सभी जवाब हां में हैं तो सावधान हो जाएं; इस बात की बड़ी संभावना है कि आप नोमोफोबिया से पीड़ित हैं। नोमोफोबिया का मतलब होता है आपने मोबाइल फोन के बिना रहने या फिर किसी कारण से अपना इस्तेमाल न कर पाने का एक बेतुका सा डर। 

- इस बीमारी के लक्षण और इनसे बचने के उपाय...

आइए जानें इसके लक्षण

1. अगर आप रात में हर दो घंटे में अपना मोबाइल फोन चेक करते हैं

2.लंच और डिनर करते समय भी आप अपना फोन चेक करते हैं।

3. अगर आपके फोन की बैटरी की चार्जिंग खत्म होने लगती है तो आप पैनिक तो नहीं करते। 

4. अगर आपके फोन के सिग्नल नहीं मिलते तो क्या आपको लगता है कि आप कुछ आज कुछ मिसिंग है।

5. क्या आप वॉशरुम में भी अपना फोन लेकर जाते हैं।  

कैसे करें इस बीमारी से बचाव

अच्छे से सोने के लिए अपना फोन ऑफ करके सोएं

अपने फोन के नोटिफिकेशन को कस्टमाइज करें। 

अपने फोन के उन ऐप्स को हटा दें जो जरूरी न हों। 

टाइम देखने के लिए घड़ी पहनें।