नोएडा में कंपनी से 2.60 करोड़ रपये कैश, 95 किलो सोना-चांदी जब्त

नई दिल्ली ( 24 दिसंबर ): नोटबंदी के बाद पूरे देश में आयकर विभाग और सीबीआई के छापे मार रही है जिसमें करोड़ों के पुराने और नए बरामद किए जा रहे हैं। राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने नोएडा विशेष आर्थिक क्षेत्र स्थित एक कंपनी से 2.60 लाख करोड़ रुपये नकद और 95 किलो सोना-चांदी जब्त किया है। डीआरआई ने विशेष रियायती योजना के तहत आयातित 140 करोड़ रुपये के शुल्क मुक्त सोने को कथित रूप से इधर-उधर किए जाने की अपनी जांच के सिलसिले में यह जब्ती की है।

एजेंसी की लखनऊ स्थित क्षेत्रीय इकाई के अधिकारियों ने कंपनी श्री लाल महल लिमिटेड के परिसर के अलावा कंपनी अधिकारियों के आवासों पर दो दिन छापेमारी की। नोटबंदी के बाद कालाधन रोधक कार्रवाई के तहत यह छापेमारी की गई। एजेंसी ने एक बयान में कहा कि यह कंपनी नोएडा के स्पेशल इकनॉमिक जोन में स्थित है। जांच में सामने आया है कि इस इकाई ने गैर-कानूनी तरीके से 430 किलो सोने को इधर-उधर कर बाजार में बेच दिया। इस सोने का मूल्य 140 करोड़ रुपये है।

बयान में कहा गया है कि कंपनी से 2.60 लाख करोड़ रुपये नकद (2.48 करोड़ के पुराने नोट और 12 लाख रुपये के नए नोट) जब्त किए गए हैं। कारखाने से 80 किलो बेहिसाबी चांदी भी पकड़ी गई। इसके अलावा कंपनी परिसर से 15 किलो सोने के आभूषण भी जब्त किए गए।

डीआरआई ने यह भी आरोप लगाया कि कंपनी ने आरटीजीएस के जरिए उनके परिसर से परिचालन करने वाली एक कंपनी को भारी राशि स्थानांतरित की, जिससे सोने के सिक्के या 24 किलो सोने की छड़ खरीदी जा सके। यह राशि 8 नवंबर के बाद एमएमटीसी से सोने की खरीद के लिए स्थानांतरित की गई। एजेंसी ने कहा कि कंपनी के निदेशक या तो अस्पताल में भर्ती हैं या वे जांच से बच रहे हैं। दो लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।