नोएडा: पुलिसवाले करते थे हनीट्रैप से वसूली, चौकी इंचार्ज समेत 15 गिरफ्तार

noida

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (11 जून): नोएडा स्थित सेक्टर 44 के पुलिस के चौकी इंचार्ज और तीन सिपहियों समेत 15 लोगों को झूठे रेप केस में फंसाकर राहगीरों से पैसे लूटने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। इसमें पीसीआर पर तैनात तीन प्राइवेट ड्राइवर, दो महिलाओं और चौकी इंचार्ज शामिल हैं।

आरोप के मुताबिक, पुलिसकर्मी गैंग बनाकर महिला द्वारा लोगों पर झूठा रेप केस लगाते थे, जिसे बाद में रफादफा करने के लिए मोटी रिश्वत वसूलते थे। चौकी इंचार्ज और पुलिसकर्मियों के संरक्षण में दो महिलाओं की मदद से यह गोरखधंधा चल रहा था। गौतमबुद्ध नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) वैभव कृष्णा को जब इसकी शिकायत मिली तो उन्होंने बड़ी कार्रवाई करते हुए सेक्टर 44 की पुलिस चौकी पर तीन आरोपियों को 50 हजार रुपए लेते हुए पकड़ा। इसके बाद पूछताछ में इस पूरे गैंग पर पर्दाफाश हुआ।

करीब 3-4 दिन पहले कुछ लोगों ने एसएसपी वैभव कृष्णा को सूचना दी गई थी कि सेक्टर 39 थाने के अंतर्गत सेक्टर 44 की पुलिस चौकी के बाहर एक ऐसा गैंग है जो लोगों पर झूठा रेप केस लगाकर पैसों की वसूली करता है। आरोप के अनुसार, एक लड़की सेक्टर 44 पुलिस चौकी से जा रहे किसी व्यक्ति की कार को रुकवाकर उसकी कार मे बैठकर थोड़ी दूर चलकर ऐसी जगह उतरती थी। जहां सेक्टर 44 पुलिस चौकी की पीसीआर खड़ी होती है और उतरने के बाद वो लड़की पीसीआर पर तैनात पुलिस कर्मियों से शिकायत करती थी कि उसके साथ ब्लात्कार हुआ है।

इस सूचना पर पीसीआर पर तैनात पुलिसकर्मी उक्त लड़की और तथाकथित अभियुक्तों को चौकी लेकर आते थे जहां पर लड़की पक्ष की तरफ से भी कुछ व्यक्ति आते थे। इसके बाद अभियुक्तों के ब्लैकमेल किया जाता था और फैसले के नाम लोगों से रिश्वत ली जाती थी। इस मामले में चौकी इंचार्ज सेक्टर 44 सुनील शर्मा, तीन आरक्षी- मनोज, अजयवीर, देवेंद्र, पीसीआर 50 के तीन प्राइवेट ड्राइवर और 2 महिलाओं को मिलाकर कुल 15 लोगों को गिरफ्तार किया है।