नोएडा के इन मकानों में हुआ कुछ ऐसा, डरकर भागे पुलिसवाले!

नई दिल्ली(3 अगस्त): दिल्ली से सटे नोएडा के फ्लैट में देर रात दो दर्जन से अधिक पुलिस वालों को आनन—फानन में परिवार के साथ घर छोड़ कर भागना पड़ा और उन्होंने पूरी रात एक गेस्ट हॉउस में काटनी पड़ी।

- दरअसल इन पुलिस वालों को डर है कि कभी भी उनका सरकारी फ्लैट गिर सकता है। इस इमारत के बगल में कैलाश अस्पताल की बिल्डिंग बन रही है।

- अस्पताल की बेसमेंट बनाने के लिए गहरा गड्ढा खोदा गया था, इसकी सीवर लाइन टूटने से पानी का रिसाव पुलिसकर्मियों की इमारत में होने लगा। इसी के चलते देर रात पुलिस वालों को लगा कि उनकी बिल्डिंग एक तरफ झुक गई है और वह कभी भी गिर सकती है। ऐसे में सभी ने अपने-अपने फ्लैट खाली कर दिए। सूचना पर पुलिस के सभी आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।

तीन साल पुरानी है इमारत

एक साल पहले बने फेज तीन थाने के बगल में बनी रिहायशी इमारत को पुलिसकर्मियों के रहने के लिए आवंटित किया गया था। ये चार मंजिला इमारत नोएडा अथॉरिटी ने तीन साल पहले बनाई थी। इमारत के ठीक बगल में कैलाश अस्पताल की बिल्डिंग बन रही है। इसका कार्य करीब एक वर्ष से चल रहा है।

बिल्डिंग में दरार और एक तरफ झूकने का दावा

ऐसे में अस्पताल की बिल्डिंग के बेसमेंट बनाने के लिए काफी गहरा गड्ढा खोदा गया था। सोमवार को अचानक सीवर लाइन टूट गई। जहां पानी का तेजी से रिसाव पुलिस बिल्डिंग की ओर होने लगा। सोमवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे कुछ पुलिसकर्मियों ने बिल्डिंग में दरार और एक तरफ झूकने का दावा किया। इसे अचानक ही भगदड़ का माहौल बना और सभी पुलिसकर्मी अपने परिवार के साथ सरकारी फ्लैट छोड़ कर बाहर निकल आए। सभी लोगों ने मामले की सूचना फेस-3 थाने को दी गई।

थाने पर सूचना मिलते ही पहुंचे अधिकारी

भगदड़ की सूचना के बाद पुलिस के आला अधिकारी व इंजीनियर मौके पर पहुंचे। सभी जिम्मेदार लोगों ने हालात का जायजा लिया और परिवार वालों को भरोसा दिया कि वह अपने फ्लैट में जा कर रुक सकते हैं। मगर बिल्डिंग एक तरफ झुकने की बात कहते हुए कोई भी परिवार वापस अपने फ्लैट में नहीं गया। ऐसे में एसएसपी ने गेस्ट हॉउस की व्यवस्था कराई और सभी को सेक्टर-70 स्थित एक गेस्ट हॉउस में रुकवाया गया। मंगलवार को एसएसपी ने बताया ‌कि सारे इंस्पेक्शन कराएं गए हैं। सब कुछ ठीक है। पुलिसवालों के परिवार की सुरक्षा की जिम्मेदारी लेते हुए उन्हें आश्वस्त किया गया है कि वह अपने घरों में आराम से रह सकते हैं।