दहेज में कार ना मिलने पर पत्नी को पांचवीं मंजिल से फेंका

नोएडा (24 अप्रैल): नोएडा से भी एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई। दहेज की कार के लिए पति ने पत्नी की बेरहमी से हत्या कर दी। अपने नौ महीने के बच्चे के सामने इस कातिल फैशन डिजाइनर पति ने पत्नी को फेंक दिया। आरोपी पति बच्चे को भी मार डालना चाहता था, लेकिन घर पर मौजूद साली ने बच्चे को बचा लिया।


नोएडा के सेक्टर 87 के मन्नत अपार्टमेंट में पांचवीं मंज़िल पर फैशन डिजाइनर विजय शंकर अपनी पत्नी के साथ रहता था। 20 अप्रैल की रात विजय ने अपनी पत्नी को पांचवीं मंज़िल से निहायत ही बेरहमी से फेंक दिया, वो भी अपने 9 महीने के मासूम के सामने। ऐसा करते हुए विजय को ज़रा भी रहम नहीं आया।


मोकामा के शिखारीचक की रहने वाली रूपा की शादी दो साल पहले विजय शंकर से हुई थी। दोनों से एक 9 महीने का बेटा है, जिसकी देखभाल करने के लिए बिहार से विजय की साली निधि आई थी, जो इस हत्या की चश्मदीद भी है। आरोप है कि 20 अप्रैल की रात 9 बजे विजय शंकर शराब के नशे में धुत होकर घर आया। पहले तो उसने पत्नी की जमकर पिटाई की और फिर घर में मौजूद साली को भी धक्का दे दिया। साली निधि के हाथ में उस वक्त नौ महीने का बच्चा था, जिसे लेकर वो गिर पड़ी। फिर विजय शंकर ने पत्नी को धक्का दे दिया, जिसके बाद पड़ोसियों ने उसे अस्पताल पहुंचाया, जहां उसकी मौत हो गई है।


आरोप है कि दहेज को लेकर पत्नी को रोज प्रताड़ित करता था। रूपा के घरवालों ने शादी के समय ही दहेज में बहुत सारे समान के साथ कैश भी दिए थे। शादी के बाद भी कार और 10 लाख रुपए की मांग विजय ससुरालवालों से कर रहा था। बताया जा रहा है कि ससुराल वाले देने के लिए तैयार थे, लेकिन विजय की डिमांड बढ़ता जा रही थी। रूपा प्रताड़ना के बारे में परिजनों को बताती थी। इसको लेकर रूपा के छोटे बच्चे का देखरेख करने के लिए बहन नोएडा आ गई थी। बताया जा रहा है कि जिस वक्त विजय पर खून सवार था उस वक्त निधि बच्चे के लेकर वहां से भाग गई। पड़ोसियों का कहना है कि इस खूनी सनक के पीछे शक भी एक वजह हो सकती है।


पत्नी की हत्या के बाद 21 अप्रैल को विजय एक लिखित अर्जी लेकर नोएडा फेस टू थाने पहुंचा और पुलिस को जानकारी दी कि जिस वक्त पत्नी पौधे को पानी दे रही थी, उसी दौरान उनका पैर फिसला और वो नीचे गिर गई। पुलिस में अर्ज़ी देने के बाद से फैशन डिज़ाइनर विजय शंकर फरार है। विजय और उसके परिजनों के खिलाफ रूपा के पिता ने रविवार को नोएडा फेज 2 के थाने में केस दर्ज कराया है।


आरोपी विजय बिहार के समस्ती पुर का रहने वाला है। फेस-टू में एक एक्सपोर्ट कंपनी में काम करता है। हत्या के 72 घंटे गुज़र चुके हैं, लेकिन अभी तक विजय शंकर का कुछ पता नहीं है।