अम्रपाली को बड़ा झटका, नोएडा अथॉरिटी ने सील की प्रॉपर्टी

नई दिल्ली (19 अगस्त): अगर आपने आम्रपाली ग्रुप में घर बुक कराया हुआ है तो यह खबर आपको थोड़ा निराश कर सकती है, क्योंकि नोएडा अथॉरिटी ने आम्रपाली ग्रुप से जुड़े एक प्लॉट के लीज डीड को कैंसल करते हुए इसे सील कर दिया है और प्रॉपर्टी को खुद के कब्जे में ले लिया है।

10 दिन पहले ही अथॉरिटी ने प्लॉट के ओनर नवोदय प्रॉपर्टीज प्राइवेट लिमिटेड को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। बता दें कि इस प्रापर्टी को कॉर्पोरेशन बैंक द्वारा नीलामी के लिए रखे जाने पर यह ऐक्शन लिया गया। बैंक के 9.10 करोड़ रुपये इस संपत्ति पर बकाया हैं। अथॉरिटी का तर्क है कि प्रॉपर्टी लीज होल्ड पर है इसलिए नीलामी से पहले बैंक और मालिक दोनों को इसकी नीलामी से पहले नोएडा अथॉरिटी से अनुमति लेनी चाहिए थी।

अधिकारियों ने कहा कि बैंक का इस संपत्ति पर कोई अधिकार नहीं है, इस पर पहला हक नोएडा अथॉरिटी का है जो कि लीज डीड में साफ तौर पर दिया गया है। प्लॉट नंबर-37, ब्लॉक सी-56 नोएडा सेक्टर 62 को सील करके मौके पर पहुंची नोएडा अथॉरिटी के अधिकारियों की टीम ने कब्जे में ले लिया। एक अधिकारी ने बताया कि मध्य रात्रि तक कार्यवाही पूरी कर ली गई और शुक्रवार को ही नोटिस दे दिया गया है कि प्रॉपर्टी पर हमने कब्जा कर लिया है।

बता दें कि 1 मार्च 2007 को यह प्लॉट कबीर ओवरसीज के नवोदय प्रॉपर्टीज के नाम पर ऑफिस के लिए ट्रांसफर किया गया था। इसी बिल्डिंग में नवोदय प्रॉपर्टीज की पैतृक संस्था आम्रपाली का ऑफिस है। 14 मार्च 2011 को आम्रपाली ग्रुप को ने इस प्रॉपर्टी को कॉर्पोरेशन बैंक के पास गिरवी रखते हुए अल्ट्रा होम कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर लोन लिया था।