जाकिर को कोई होटल नहीं दे रहा जगह...

इंद्रजीत सिंह, प्रभाकर मिश्रा, नई दिल्ली (14 जुलाई): इस्लामिक स्कॉलर और अपने भाषणों से नफरत फैलाने के आरोपी ज़ाकिर नाईक की स्काइप के ज़रिए होने वाली वीडियो कॉन्फ्रेंस रद्द हो गई। ये दूसरा मौका है जब ज़ाकिर नाईक मीडिया के सामने आते-आते रह गए। कहा जा रहा है कि ज़ाकिर को मुंबई का कोई भी होटल जगह देने के लिए राज़ी नहीं है।

ज़ाकिर नाईक इस वक्त सऊदी अरब में मौजूद है। भारत में उसके खिलाफ़ जांच एजेंसियां उसके नफरत भरे बयानों की जांच में जुटी हुई हैं। देश की जांच एजेंसियां से लेकर लाखों लोग उसके वापस आने का इंतज़ार कर रहे हैं, लेकिन ज़ाकिर नाईक न तो भारत वापस आ रहा है और न ही प्रेस कॉन्फ्रेंस के ज़रिए सामने आ रहा है। 12 जुलाई को ट्राइडेंट होटल में ज़ाकिर नाईक की प्रेस कॉन्फ्रेंस होनी थी। खबर थी कि ज़ाकिर नाईक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन बॉलीवुड की बड़ी हस्तियों के संपर्क में थी, वो अपने लिए मदद मांग रहा था। लेकिन ट्राइडेंट होटल में होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द कर दी गई।

जाकिर की संस्था की ओर से कहा गया था कि मुंबई के आंग्रीपाड़ा इलाके में उन्हें जगह मिल गई है, वहां के महफिल हाल में टेलीकॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जाकिर अपना पक्ष रखेंगे, लेकिन अब ये कॉन्फ्रेंस रद्द हो गई है। इससे पहले खबर आई थी कि ज़ाकिर नाईक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए देश के सामने आना चाहता है, लेकिन उसे जगह नहीं मिल रही है। मुंबई का कोई भी होटल उसे जगह देने के लिए राज़ी नहीं है।

कहा जा रहा है कि ज़ाकिर नाईक इसलिए भी डरा हुआ है क्योंकि यहां लोग उस पर बुरी तरह से भड़के हुए हैं। दरअसल ज़ाकिर के लोगों ने पहले ऑफिशियली कहा की पुलिस होटलों और हाल मालिकों को खुद मना कर रही है, लेकिन बाद में ज़ाकिर टीम खुद अपने बयान से पलट गई। वहीं कई लोग ज़ाकिर के समर्थन में भी खुलकर आ गए हैं।

आपको बता दें कि ज़ाकिर नाईक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में भी मामला पेंडिंग है। 5 राज्यों में ज़ाकिर के खिलाफ 7 FIR और 28 शिकायतें हैं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद भी अब तक उड़ीसा को छोड़कर बाकी 4 राज्यों महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा और कर्नाटक ने अपना जवाब दाखिल नहीं किया है। इसीलिए ज़ाकिर नाईक के खिलाफ कार्रवाई होने में मुश्किलें आ रही हैं। अब सभी की नज़रें इस पर टिकी हुई हैं कि आख़िर ज़ाकिर नाईक मीडिया के सामने कब आएगा।