#News24Conclave: ''2020 तक खत्म कर देंगे वेटिंग लिस्ट व्यवस्था''

नई दिल्ली (21 मई): नरेंद्र मोदी सरकार के दो साल पूरे होने पर न्यूज 24 के महामंच पर रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने भी अपनी सरकार और रेल मंत्रालय की उपलब्धियों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि काम हो रहा है, लेकिन हमारी रेलवे की स्‍िथति इतनी ज्यादा खराब थी कि उसे सुधारने में समय लगेगा। हमारा लक्ष्‍य है कि हम 2020 तक रेलवे टिकट में वेटिंग लिस्ट व्यवस्था को पूरी तरह से खत्म कर दें। हम स्पीड बढ़ाना, खानपान की बेहतर सुविधा देने के लिए हम काम कर रहे हैं

रेल मंत्री ने बताया कि ट्रेनों में वेटिंग लिस्‍ट का मुख्‍य कारण है कि जितनी मांग है, उतनी आपूर्ति नहीं है, इसलिये कन्फर्म टिकट नहीं मिल पाता। हम भीड़वाली ट्रेनों में ज्या़दा डिब्बे लगाएंगे, ताकि लोगों को दिक्कत का सामना ना करना पड़े। स्पीड बढ़ाना, खानपान, ट्रैक सुधार, ऑर्गेनाइजेशनल कैपिसिटी सभी चीजें अपनी जगह पर अहम हैं। उन्होंने कहा कि सर्विस के साथ उसकी क्वालिटी पर भी हम ध्यान दे रहे हैं। मैं चाहता हूं रेलवे की सुविधा देश में लोगों को विदेशों के स्तर की मिलनी चाहिए। हमें अपने लक्ष्य को नहीं भूलना चाहिए, साथ-साथ हम कहां से चले थे यह भी याद रखना चाहिए।

न्‍यूज 25 कॉन्कलेव में रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि हमारी तुलना चीन से की जाती है, जबकि हमें यह देखना होगा कि चीन को इस मुकाम तक आने के लिए कितना समय लगा। वह 20 से 25 साल तक इसपर काम कर रहा था और अगर हम इसपर अभी काम करते हैं तो वक्त लगना लाजिमी है। उन्होंने सचिन तेंदुलकर का उदाहरण देते हुए कहा कि उसने 14 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया, तभी दस हजार रनों का आंकड़ा छूआ। ऐसे में किसी भी क्रिकेटर को ऐसा करने के लिए समय लगेगा, जल्दबाजी में कोई काम नहीं होता।

रेल मंत्री ने कहा कि मैं मानता हूं कि हमने दो सालों में बहुत काम किए हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि मैं इससे संतुष्‍ट हूं, हमें अभी बहुत काम करना है। हम जिस गति से आगे बढ़ रहे हैं वह काबिलेतारीफ है। गतिमान एक्सप्रेस और दूसरी आने वाली बुलेट ट्रेन के किराए को लेकर पूछे गए सवाल पर प्रभु ने कहा कि हमारे देश में 7 स्‍टार, 5 स्‍टार और सड़क पर लगने वाले सभी तक होटल व भोजनालय हैं जो लोगों को सुविधा पूरी करते हैं। ऐसे में यह कहना कि लोग ज्यादा किराया क्यों देंगे यह सुविधा पर निर्भर करता है।

रेलवे में यात्रियों की सुरक्षा को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए प्रभु ने कहा कि हम सीसीटीवी लगा रहे हैं। दूसरा जहां पर यात्रियों के साथ कोई घटना होती है, वह राज्य सरकार की सुरक्षा का मुद्दा होता है और मैंने राज्यों से इस बारे में बात भी की है। हालांकि कभी-कभी सुरक्षा वाले स्टेशनों पर भी ऐसे हादसे हो जाते हैं, लेकिन इसके लिए हम सीसीटीवी लगाकर अपराधियों को यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि अगर उन्होंने कुछ गलत किया तो वह आसानी से पकड़े से जा सकते हैं। वहीं मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि हम आजादी के इतने दिन के बाद भी इस बारे में बात कर रहे हैं, जो होनी नहीं चाहिए। हालांकि हम इस बारे में काम कर रहे हैं और हमारे बजट का 80 फीसदी हिस्सा इस तरह के कामों के लिए ही खर्च किया जा रहा है।