सीनियर सिटीजन को मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, ब्याज पर नहीं कटेगा TDS

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 दिसंबर): आगामी चुनावों से पहले मोदी सरकार ने देश के सीनियर सिटीजन को एक बड़ा तोहफा दिया है। केंद्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने सीनियर सिटीजन के लिए एक बड़ा ऐलान करते हुए ब्याज से होने वाली आमदनी पर टीडीएस नहीं काटने का फैसला किया है। हालांकि सीनियर सिटीजन को 50 हजार रुपये के सालाना ब्याज की रकम पर यह राहत दी गई है।

Photo: Google

अगर किसी एक वित्‍त वर्ष में सीनियर सिटीजन को बैंक खाते में ब्‍याज से 50,000 रुपए तक की आमदनी होती है तो अब उस पर टीडीएस नहीं काटा जाएगा। इस बारे में 6 दिसंबर को नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया था।

बजट 2018 में किया लाया गया था यह प्रावधान

केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने बजट 2018 में यह प्रावधान किया था। इसमें आयकर कानून में एक नया सेक्‍शन 80TTB था। इसके तहत वरिष्‍ठ नागरिकों को किसी वित्‍त वर्ष में 50,000 रुपए तक की ब्‍याज आय पर टैक्‍स छूट मिलती है। आप जानते ही होंगे कि 60 साल से अधिक की उम्र के लोग वरिष्‍ठ नागरिक की श्रेणी में आते हैं। इसके साथ ही इनकम टैक्‍स कानून के सेक्‍शन 194A में बदलाव किया गया है। इस सुधार के बाद यदि किसी एक वित्‍त वर्ष में किसी वरिष्‍ठ नागरिक को बैंक खाते से ब्‍याज के रुप में सालाना 50,000 रुपए तक की आमदनी होती है तो उस पर टीडीएस नहीं काटा जाएगा।

सीबीडीटी को मिली थी जानकारी

सीबीडीटी को यह जानकारी मिली थी कि कुछ बैंक सीनियर सिटीजन के बैंक खाते से मिले 50,000 रुपए से कम की राशि पर भी टीडीएस काट रहे हैं। इसके बाद सीबीडीटी ने यह नोटिफिकेशन जारी किया है। इसके तहत इनकम टैक्‍स कानून के सेक्‍शन 194A के तहत टीडीएस काटना जरुरी नहीं है यदि खाताधारक सीनियर सिटीजन है और उनकी ब्‍याज से कुल सालाना आमदनी 50,000 रुपए तक है।

पहले का नियम

इससे पहले के प्रावधानों के अनुसार किसी एक वित्‍त वर्ष में ब्‍याज से आमदनी 10,000 रुपए से अधिक होने पर बैंक टीडीएस काट लेते थे। इस प्रावधान में सीनियर सिटीजन के लिए कोई अलग नियम नहीं था।